MP Weather : इस बार 4 महीने पड़ेगी कड़ाके की ठंड, 6-7 नवंबर MP सहित कई राज्यों में तेजी से गिरेगा तापमान

 
image

मध्यप्रदेश में इस बार 4 महीने कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार हैं। 6-7 नवंबर MP सहित कई राज्यों में तापमान तेजी से गिरेगा। इसके बाद शाम को धुंध और सुबह कोहरा छाने लगेगा। मध्यप्रदेश में अगले एक हफ्ते में ठंड जोर पकड़ सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक, देश में दो पश्चिमी विक्षोभ दस्तक देने वाले हैं। इस वजह से 6 नवंबर से तापमान तेजी गिरना शुरू होगा। खासतौर पर रात के तापमान में 11 से 17 डिग्री का अंतर आ जाएगा।

आने वाले दिनों में मध्यप्रदेश में आसमान साफ रहने से रात से सुबह तक सर्दी महसूस होगी, लेकिन दोपहर का तापमान फिलहाल 30 से 35 डिग्री के बीच ही रहेगा। सुबह और शाम के समय धुंध और कुहासा छा सकता है। बिल्कुल खुले स्थानों पर हल्का कोहरा भी छा सकता है।

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 4 महीने पहाड़ी राज्यों से मध्य भारत तक के राज्यों में कड़ाके की सर्दी पड़ सकती है। इस समय उत्तर, पश्चिम से लेकर मध्य भारत तक शुष्क पश्चिमोत्तर हवाएं चल रही हैं। उत्तर के पहाड़ों पर बर्फबारी के बाद ये हवाएं बर्फीले इलाकों से गुजरती हुई मध्य भारत तक ठंडक लेकर पहुंचेंगी। 6-7 नवंबर को पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान ही नहीं, बल्कि गुजरात, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा और तेलंगाना तक तापमान तेजी से गिरेगा।

अभी राजधानी भोपाल में न्यूनतम तापमान 15 डिग्री से ऊपर और दिन का पारा 32 डिग्री के ऊपर चल रहा है। मौसम वैज्ञानिक प्रमेंद्र कुमार ने बताया कि मौसम शुष्क और आसमान साफ होने के कारण अभी दिन का तापमान ज्यादा है। साइक्लोन बनने की वजह से उत्तर से हवाएं नहीं आ पा रही हैं। 6 नवंबर के बाद ठंड बढ़ना शुरू होगी।

हवाएं नहीं आने के कारण ऐसी स्थिति बनी
इस समय तक हिमालय में बर्फबारी होने और हवाएं नीचे मैदान की तरफ आने से हल्की गुलाबी ठंड होने लगती थी। अक्टूबर के दूसरे हफ्ते के बाद पहाड़ों पर बर्फबारी के कारण थोड़ी ठंड बढ़ गई थी, लेकिन ये एक्टिविटी थमने से अक्टूबर में ठंड ज्यादा जोर नहीं पकड़ सकी। नवंबर में ठंड धीरे-धीरे बढ़ना शुरू हो जाएगी।

एक हफ्ते में दो पश्चिमी विक्षोभ... यही बढ़ाएंगे सर्दी
सर्दी के मौसम का पहला पश्चिमी विक्षोभ 31 अक्टूबर को कश्मीर में दस्तक देगा। इससे 1 नवंबर को हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड तक हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है। दूसरा पश्चिमी विक्षोभ 3 नवंबर को दस्तक देगा। यह पहले विक्षोभ की तुलना में ज्यादा मजबूत होगा। इसकी वजह से 5 नवंबर तक कश्मीर से हिमाचल और उत्तराखंड तक भारी बर्फबारी हो सकती है।

Related Topics

From Around the Web

Latest News