MP : भोपाल में 78 साल की महिला से रेप, पीड़िता का 5 दिन चला इलाज, NGO के कर्मचारियों की मदद से FIR कराई

 
image

BHOPAL NEWS : भोपाल में 78 साल की बुजुर्ग महिला के साथ 37 साल के आरोपी ने रेप किया। घटना हबीबगंज (HABIBGANJ) इलाके की है। आरोपी के जबरदस्ती करने से महिला के चेहरे और गले पर सूजन आ गई थी। 5 दिन इलाज चला। NGO के कर्मचारियों की मदद से FIR कराई। शनिवार रात पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस को महिला ने बताया कि उनके तीन बेटे हैं। दो बेटे साथ नहीं रखते। सबसे छोटा बेटा देखरेख करता था, लेकिन वो चल बसा। वे आरोपी को बेटे की तरह मानती थीं, उसे खाना देती थीं। पढ़िए...

मेरी उम्र 78 साल है। मूलत: खंडवा जिले की रहने वाली हूं। मेरे तीन लड़के हैं। 2 लड़के खंडवा में ही रहते हैं। वे मेरी देखभाल नहीं करते, इसलिए 3 साल पहले मेरा छोटा बेटा मुझे खंडवा से भोपाल लेकर आया था। वह मेरी सेवा करता था। इसी बीच मेरे छोटे बेटे की मौत हो गई। मैं बेसहारा हो गई। भोपाल में 11 सौ क्वार्टर के पास एक मंदिर के करीब झुग्गी बनाकर रहने लगी। 2 साल से झुग्गी में रह रही हूं। मंदिर में आने-जाने वाले लोग खाना दे जाते हैं। इसी से मेरा गुजारा होता है।

26 अक्टूबर को रात 2 बजे की बात होगी। मैं अपनी झुग्गी में सो रही थी। इसी बीच आरोपी राजू आया। वह झुग्गी का पर्दा फाड़कर अंदर आया था। बोला- मुझे रोटी दे। मैंने कहा- मेरे पास रोटी नहीं है। वह गाली गलौज करने लगा। मुझे जमीन पर धक्का देकर पटक दिया। मेरे साथ रेप किया। विरोध करने पर मेरा गला दबा दिया। मेरा मुंह बंद करने लगा। इसके बाद मेरी झुग्गी में ही सो गया।

मैं उससे बचकर झुग्गी से निकलकर मंदिर में जाकर बैठ गई। जब लोगों ने मुझे देखा तो पूछने लगे कि तुम्हारा चेहरा और गला क्यों सूज रहा है? डर की वजह से किसी को नहीं बताया। मंदिर आने वाले लोगों ने मेरा इलाज करवाया। 5-6 दिन बाद मैं ठीक हो गई। इसके बाद भी राजू मेरी झुग्गी में कई बार आया। उसके आते ही मैं झुग्गी से बाहर निकल कर मंदिर में जाकर बैठ जाती थी। यह देखकर वह चला जाता था।

11 नवंबर की रात 12 बजे मैं झुग्गी के बाहर बैठी थी, तभी आरोपी राजू आया। बोलने लगा कि मुझे खाना दो। मैंने मना किया तो बोला कि तुझे देना पड़ेगा। मैंने उसे भगा दिया। उस समय रास्ते में चहल-पहल थी, तो वह भाग गया। फिर वह मंदिर पर जाकर दूर से मुझे देखता रहा। थोड़ी देर बाद चला गया।

राजू मंदिर पर खाना लेने रोज आता है। इसलिए मैं उसे जानती हूं। उसकी दरिंदगी के बारे में मैंने एक NGO के कर्मचारियों को बताया। वे दोनों कर्मचारी मुझे थाने पर लेकर आए। तब पुलिस ने तुरंत ही FIR दर्ज कर राजू को पकड़ लिया।

(पीड़िता ने जैसा पुलिस, NGO कर्मचारियों को बताया)

फुटपाथ पर रहता है आरोपी राजू
हबीबगंज थाना प्रभारी मनीष राज सिंह भदौरिया ने बताया कि महिला की शिकायत के बाद आरोपी राजू पिता नीरज को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसकी उम्र 37 साल के करीब है। वह शाहपुरा इलाके का रहने वाला है। फुटपाथ पर रहकर भीख मांगता है। अधिकतर वक्त ग्यारह सौ क्वार्टर के पास मंदिर के बाहर गुजारता है। पीड़िता की झुग्गी भी मंदिर के पास ही है।

पीड़िता के बेटे नहीं कर रहे सेवा
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि छोटे बेटे की मौत के बाद भी खंडवा में रहने वाले उसके दोनों बेटों ने उसकी कोई खबर नहीं ली। मजबूरन भोपाल में रहना पड़ रहा है। भीख मांगकर जीवन चल रहा है। वह राजू को बेटे की तरह ही मानती थी। मंदिर में जब कोई खाना देने आता था, तो राजू के लिए भी रख लेती थी। उसने राजू को कई बार अपने हिस्से का खाना भी दिया।

Related Topics

From Around the Web

Latest News