MP : पंचायतें होंगी पुरस्कृत : MP में 600 सरपंच चुने गए निर्विरोध : जानिए पंचायत को कितना मिलेगा इनाम?

 

MP : पंचायतें होंगी पुरस्कृत : MP में 600 सरपंच चुने गए निर्विरोध : जानिए पंचायत को कितना मिलेगा इनाम?

मप्र में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दो चरणों का मतदान हो चुका है। प्रदेश में अब तक 604 सरपंच निर्विरोध चुने जा चुके हैं। मप्र के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग से निर्विरोध चुनी गई पंचायतों को अलग-अलग कैटेगरी में पुरस्कार राशि विकास कार्यों के लिए मिलेगी। महिला और बाल हितैषी पंचायत, आर्थिक रूप से संपन्न, और स्वच्छता में अच्छा काम करने वाली तीन पंचायतों को भी पुरस्कार दिए जाएंगे।

निर्विरोध चुनाव पुरस्कार राशि
जहां सरपंच निर्विरोध चुने गए 5 लाख
वर्तमान और पिछले चुनाव में निर्विरोध चुने गए सरपंच 7 लाख
सरपंच और सभी पंच निर्विरोध चुने गए 7 लाख
सरपंच (पुरूष) और महिलाएं पंच के तौर पर निर्विरोध चुनी गईं 12 लाख
सरपंच और पंच के पदों पर सिर्फ महिलाएं निर्विरोध चुनी गई हों

15 लाख​​​​​

अच्छा काम करने वाली पंचायतें भी होंगी पुरस्कृत

पंचायत एवं विकास विभाग ने अलग-अलग क्षेत्रों में अच्छा काम करने वाली ग्राम पंचायतों को भी पुरस्कार देने का फैसला किया है। इसके लिए विभाग ने पंचायतों के समग्र विकास के मापदण्ड भी तय किए हैं। इन विकास कार्यों के टारगेट को अचीव करने वाली पंचायतों को भी चार कैटेगरी में तीन-तीन पुरस्कार दिए जाएंगे।

महिला एवं बाल हितैषी पंचायत

महिलाओं की आर्थिक और सामाजिक उन्नति के लिए गतिविधियों को प्रोत्साहित करना।

बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए सभी संसाधनों से युक्त आंगनवाड़ियों का संचालन।

कुपोषण से मुक्ति ।

बेटियों और महिलाओं के कल्याण के लिए बनाई गई योजनाओं का लाभ दिलाना।

जल परिपूर्ण पंचायत

जल जीवन मिशन का अधिकतम उपयोग।

जनभागीदारी से जल संरक्षण और संवर्द्धन।

अमृत सरोवरों का निर्माण

स्वच्छ, स्वस्थ एवं हरित पंचायत

100% घरों में शौचालय की उपलब्धता।

ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबंधन हेतु संचालित योजनाओं का 100 प्रतिशत क्रियान्वयन ।

पंचायतों के ऊर्जा के वैकल्पिक स्त्रोतों का अधिकतम उपयोग।

पर्यावरण को प्रदूषण से मुक्त करने के उपायों पर कार्य।

टीकाकरण।

नियमित स्वास्थ्य परीक्षण।

बीमारियों की रोकथाम।

नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य संबंधी उपाय।

आयुष्मान भारत योजना का लाभ हर पात्र व्यक्ति को मिले।

आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर पंचायत

नागरिकों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए कराधान की मजबूत व्यवस्था।

जन सहयोग और कर संग्रहण से ग्रामीणों को सुविधा और सेवा प्रदान करना।

स्व-सहायता समूहों का कौशल उन्नयन एवं बैंक लिंकेज।

मनरेगा अंतर्गत स्थायी आजीविका।

हर पात्र परिवार को आवास, राशन, गैस आदि की सुविधा।

इन चाराें कैटेगरी में उत्कृष्ट काम करने वाली 3-3 पंचायतों को मिलेंगे पुरस्कार

श्रेणी राशि
पहला पुरस्कार 50 लाख
दूसरा पुरस्कार 25 लाख
तीसरा पुरस्कार 15 लाख

MP: Panchayats will be rewarded: 600 Sarpanch elected unopposed in MP: Know how much reward the Panchayat will get?

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read