रीवा में दिल दहला देने वाला मामला : गर्लफ्रेंड को शादी करने का सपना दिखाकर घर से भगाया, फिर बनाया हवस का शिकार : गिरफ्तार

 
रीवा में दिल दहला देने वाला मामला : गर्लफ्रेंड को शादी करने का सपना दिखाकर घर से भगाया, फिर बनाया हवस का शिकार : गिरफ्तार

रीवा. रीवा के मऊगंज थाने के फूलगांव में मिली युवती की लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। युवती का कातिल उसका ही प्रेमी निकला है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि प्रेमिका लगातार शादी का दबाव डाल रही थी जिससे तंग आकर प्रेमी ने उसकी गला घोट कर हत्या कर दी थी। प्रेमी को संदेह के आधार पर पकड़कर पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो आरोपी ने अपना जुर्म कबूल लिया।

शादी का दबाव बनाया तो मार डाला

मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि मऊगंज थाने के फूल गांव में एक युवती का शव बरामद हुआ था जिसकी पहचान नईगढ़ी थाना क्षेत्र से लापता युवती के रूप में हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी गला घोट कर हत्या करने की बात सामने आई थी जिसके बाद से पुलिस संदिग्धों की तलाश कर रही थी। संदेह के आधार पर पुलिस ने उसके प्रेमी अमित सिंह पिता नरेंद्र बहादुर सिंह 24 वर्ष निवासी फूलकरण सिंह थाना मऊगंज को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपी ने घटना को अंजाम देना स्वीकार किया। 

युवती से उक्त युवक का कई सालों से प्रेम प्रसंग चल रहा था लेकिन युवक ने गंगेव में दूसरी लड़की से शादी करनी थी। इसके बाद भी उस पर शादी के लिए दबाव डाल रही थी। इस बात से युवक काफी परेशान हो गया था। उसने झांसा देकर युवती को घर से बुलाया और और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। घटना के बाद आरोपी कुछ दूर रहने वाले अपने दोस्त के घर गया था और शराब पीकर रात में वहीं सो गया। सुबह वह अपने ससुराल भाग गया था। पकड़े गए आरोपी से लगातार पुलिस पूछताछ कर रही है।

घर से भाग कर शादी करने बुलाया और कर दी हत्या

आरोपी ने युवती को घर से भाग कर शादी करने के लिए बुलाया था। घटना दिनांक को युवती घर से बैग में अपना पूरा सामान, कपड़े, दस्तावेज लेकर निकली थी। घर के समीप की ओर से आरोपी मिल गया था जिसने कुछ युवती का बैग फेकवा दिया था। उसमें रखे दस्तावेज व रुपए आरोपी ने निकलवा लिए थे। पैदल वह युवती को लेकर घटनास्थल तक पहुंचा जहां उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए और बाद में युवती की गला घोंट कर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि युवती घर में रखे 39 हजार रुपये लेकर निकली थी। 

हत्या के बाद आरोपी उसका मोबाइल रुपए लेकर चला गया था। इन रुपयों से आरोपी ने अपने साथ पत्नी, सास व साले के लिए कपड़े खरीदे। ससुराल में राशन खरीद कर पहुंचा दिया। इसके अतिरिक्त पंखा, ड्रम, पॉलिथीन सहित कई सामान उसने खरीदे थे। 19 हजार रुपये उसने कियोस्क सेंटर के माध्यम से अकाउंट में जमा करने के लिए दिए थे लेकिन रुपए जमा नहीं हुए जो पुलिस ने की कियोस्क सेंटर से बरामद कर लिए हैं।

यह भी पढ़े  : बहुचर्चित राज निवास मामले में सह आरोपी संजय त्रिपाठी गंभीर हालत में भोपाल के लिए रेफर, जेल प्रबंधन पर लगाएं यह आरोप



Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read