REWA : धर्मांतरण को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कॉलेज चौराहे में एक सैकड़ा कार्यकर्ताओं के साथ किया विरोध-प्रदर्शन

 

REWA : धर्मांतरण को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कॉलेज चौराहे में एक सैकड़ा कार्यकर्ताओं के साथ किया विरोध-प्रदर्शन

रीवा शहर के कॉलेज चौराहे में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एक सैकड़ा कार्यकर्ताओं ने एकत्र होकर तम‍िलनाडु राज्य में चल रहे धर्मांतरण का विरोध-प्रदर्शन किया। आरोप लगाया कि तम‍िलनाडु सरकार की सह पर बीते दिनों 17 वर्षीय छात्रा लावण्या को धर्मांतरण के लिए प्रेशराइज किया।

ऐसे ले सकते है आयुष्मान योजना का लाभ : सालाना पांच लाख तक का फ्री इलाज, इन अस्पतालों में करा सकते है FREE इलाज

जिससे उसने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। जब अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने तम‍िलनाडु में जाकर विरोध जताया तो सरकार के इशारे पर हिरासत में ले गया। नतीजन निधि त्रिपाठी 15 दिन से तमिलनाडु की जेल में बंद है। जिसका अभाविप ने सोमवार को देशभर में खुलकर विरोध की है।

MP की बड़ी खबरों से रूबरू : HIV के मामले में इंदौर नंबर वन, फीमेल सेक्स वर्कर ही नहीं, यहां GAY में ज्यादा : पढ़िए

तीन दिनी आंदोलन का आगाज

अभाविप के विभाग संयोजक आशुतोष ने बताया कि धर्मांतरण के विरोध में देशभर में ​तीन दिनी आंदोलन किया जा रहा है। पहले दिन तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन का पुतला फूंगा गया है। जबकि दूसरे दिन यूर्निवसिटी में हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा। इसी तरह तीसरे दिन महाविद्यालय और विद्यालय में हो रहे धर्मांतरण को रोकने व मिशनरी स्कूल बंद कराने को लेकर विरोध जताया जाएगा।

OLX जैसी इन कई वेबसाइटों पर बेचें अपने पुराने स्मार्टफोंस, मिलेगी अच्छी खासी रकम

लावण्या को न्याय दो के लगे नारे

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन का पु​तला दहन से पहले सभा में छात्र और छात्राओं के समूह ने लावण्या को न्याय दो के नारे लगाए। कहा धर्मांतरण कराने वाली मिशनरी स्कूल पर कार्रवाई हो। साथ ही अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी को रिहा किया जाए।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read