REWA : बहुचर्चित राज निवास मामले में सह आरोपी संजय त्रिपाठी गंभीर हालत में भोपाल के लिए रेफर, जेल प्रबंधन पर लगाएं यह आरोप

 

REWA : बहुचर्चित राज निवास मामले में सह आरोपी संजय त्रिपाठी गंभीर हालत में भोपाल के लिए रेफर, जेल प्रबंधन पर लगाएं यह आरोप

ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट, रीवा/भोपाल. इस वक्त की बड़ी खबर से आपको रूबरू करा रहे हैं जहां बहुचर्चित राज निवास कांड के सह अभियुक्त आरोपी संजय त्रिपाठी की स्थिति काफी गंभीर है वही हाल ही में रीवा जेल में उनकी अचानक से हालत गंभीर होते हुए देख जेल में हड़कंप मच गया था जहां अचानक बात करते-करते गिर पड़े वहीं दूसरी ओर आज एक बार फिर उनकी तबीयत अचानक से तेजी से बिगड़ गई जहां कल देर रात हालात को देखते हुए संजय गांधी से रीवा सुपर स्पेशलिटी (Super Specialty Hospital Rewa) में भर्ती कराया गया. वहीं परिवारजनों द्वारा यह जानकारी बताई गई है कि उनके दोनों पैर पैरालाइसिस हो चुके हैं और उसका असर धीरे-धीरे पैरों की ओर से हाथों की ओर बढ़ रहा है जिस पर उनके दोनों हाथों में भी काम करना बंद कर दिया है वही आपको बता दें कि संजय त्रिपाठी की इस गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें आज भोपाल ले जाने की तैयारी में परिवार परेशान है।

जेल प्रबंधन पर लगाए आरोप

आपको बता दें कि एक महीने से अधिक रीवा जेल में समय बिता चुके बहुचर्चित राज निवास कांड के आरोपी संजय त्रिपाठी और उनके परिजनों ने यह आरोप लगाया है कि उनकी तबीयत पहले से ही खराब थी जिस पर जेल प्रबंधन की भारी लापरवाही के कारण आज यह दिन देखना पड़ रहा है वहीं परिजनों ने यह भी बताया है कि हमारे द्वारा सभी दवाइयां बीपी, शुगर की उपलब्ध करवाई गई थी जबकि जेल प्रबंधकों ने उनको यह दवाइयां उपलब्ध नहीं करवाई। वही एक महीने तक सबसे अलग भी रखा उनकी सेहत को लेकर काफी लापरवाही बरती गई जिसके चलते आज उन्हें भोपाल ले जाने की नौबत आ गई वहीं पूर्व में अचानक से बात करते-करते संजय त्रिपाठी गिर पड़े थे और उनके मुंह से झाग निकलने लग गया था जिस पर तत्काल जेल प्रशासन हरकत में आ गया।

देखे वीडियो में क्या कहा

 

जेल प्रबंधन ने नहीं कराया अस्पताल में भर्ती

आपको बता दें कि परिजनों ने यह भी आरोप लगाया है कि पूर्व में जेल प्रबंधन ने गंभीर हालत को देखते हुए झूठी वाहवाही लूटी है जेल प्रबंधन ने अस्पताल में भर्ती नहीं कराया है हमने न्यायालय के जारी आदेश से उनको संजय गांधी में भर्ती कराया था हम चीखते रहे चिल्लाते रहे हमारी किसी ने ना सुनी, थक हारकर हम लोग न्यायालय पहुंचे और हमारे पिताजी की गंभीर स्थिति को देखते हुए न्यायालय ने उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराने का आदेश निर्देश किया।

स्वास्थ्य को लेकर दी जानकारी

आपको बता दें कि संजय त्रिपाठी की हालत इतनी गंभीर है कि उन्हें कभी भी वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया जा सकता है। परिजनों का कहना है कि डॉक्टर ने जानकारी देते हुए बताया है कि इन्हें पैरालिसिस अटैक आया है जो कि अभी तक पैरों में होते धीरे धीरे हाथों तक पहुंच चुका है जहां पर इनके दोनों हाथ काम करना बंद कर दिए हैं वही डॉक्टर ने कहा है कि अगर 8 से 12 घंटे का अंदर इन्हे मेडिकेशन नहीं किया गया तो यह धीरे-धीरे गले में आकर रेस्पिरेट्री में समस्या बन जाएगा जहां इनको वेंटिलेटर में भर्ती करना पड़ेगा।

लेट रिपोर्ट देने का भी लगाया आरोप

आपको बता दें कि परिजनों ने यह भी आरोप लगाया है कि हालत काफी गंभीर है जहां जेल प्रबंधन अपनी कागजी कार्यवाही जानबूझकर लेट कर रहा है। हम लोगों के साथ जानबूझकर इस तरह का षड्यंत्र रचा जा रहा है वहीं जेल में इस तरह की स्थिति जानबूझकर की गई है, यह सब ऊपर से हो रहा है। जब हमने पूछा कि हमारे साथ इस तरह का दुर्व्यवहार क्यों किया जा रहा है तो सिर्फ जेल प्रबंधन द्वारा एक ही जवाब मिलता है कि यह "सब ऊपर से हो रहा है" उन्होंने पूछा कि क्या उपर सो रहा है उनका एक ही जवाब सुनने को मिला "सब ऊपर से हो रहा है"। 

सुपर स्पेशलिटी पहुंचे परिजन

संजय त्रिपाठी की हालत दिन पर दिन गंभीर होती जा रही है जहां उन्हें संजय गांधी से तत्काल Super Specialty Hospital Rewa में शिफ्ट किया गया और उनके बेहतर इलाज के लिए उन्हें परिजन भोपाल के लिए रेफर कर रहे हैं साथ ही साथ उन्होंने जल प्रबंधन पर कई आरोप भी लगाए हैं और सिर्फ एक ही बात कही जा रही है कि सब ऊपर से हो रहा है।

यह भी पढ़े : बहुचर्चित राज निवास मामला : जेल के अंदर संजय अचानक से बेहोश होकर गिरे, जेल में हड़कंप : इलाज के लिए SGMH में भर्ती

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read