MP : कल 11 जुलाई को रीवा में शिवराज का रोड शो : सिरमौर चौराहे से जयस्तंभ के बीच निकलेगा भारी जुलूस

 

MP : कल 11 जुलाई को रीवा में शिवराज का रोड शो : सिरमौर चौराहे से जयस्तंभ के बीच निकलेगा भारी जुलूस

REWA NEWS : 24 साल से भाजपा के कब्जे वाली महापौर सीट पर इस बार कांग्रेस ने पेंच फंसा दी है। नतीजन चार दिन के अंतराल में दूसरी बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रीवा शहर आ रहे है। भाजपा सूत्रों की मानें तो 7 जुलाई को सीएम शिवराज ने व्यंकट भवन के सामने जनसभा को संबोधित किए थे। साथ ही रीवा की मेयर की चेयर का भाजपा के शीर्ष नेताओं से फीडबैक लिया था। जहां कांटे की टक्कर को देखते हुए दोबारा 4 दिन बाद आनन-फानन में रोड शो का कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

REWA में CM की सभा : हम पीछे से नहीं आगे से आते हैं, कांग्रेस डराकर बुलडोजर चलाती है, मामा का बुलडोजर अपराधियों पर चलता है....

11 जुलाई को रोड शो सिरमौर चौराहे से जयस्तंभ के बीच रखा गया है। ऐसे में सिरमौर चौराहे में बीजेपी के बड़े नेता एकत्र होंगे। यहां से सुबह 11 बजे खुले वाहन में सीएम सवार होंगे। रोड शो सिरमौर चौराहे से प्रारंभ होकर अमहिया मार्ग से होते हुए कला-मंदिर मार्ग, वेंकट मार्ग से होते हुए जयस्तंभ के पास रोड शो का समापन होगा। इस दौरान सीएम शिवराज, रीवा विधायक, सांसद के साथ रीवा नगर निगम से भाजपा के महापौर पद के प्रत्याशी प्रबोध व्यास सहित 45 वार्ड पार्षदों को जिताने की अपील करेंगे।

कांग्रेस के जमीनी कार्यकर्ता से भाजपा का मुकाबला

रीवा से कांग्रेस ने अजय मिश्रा बाबा को महापौर पद का उम्मीदवार बनाया है। जो लगातार तीन बार पार्षद रह चुके है। वे पहली बार वर्ष 1999 में वार्ड क्रमांक 17 से पार्षद, दूसरी बार 2009 में वार्ड क्रमांक 19 और तीसरी वर्ष 2014 में वार्ड क्रमांक 17 से निर्वाचित हुए थे। 2014 वाले कार्यकाल में अजय मिश्रा बाबा नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में थे। ऐसे में शहरवासी जमीनी कार्यकर्ता के रूप में देखते है।

संगठन की पसंद प्रबोध व्यास

भाजपा के मेयर कैंडिडेट प्रबोध व्यास के पास संगठन में लंबे समय तक कार्य करने का अनुभव है। वे छोटे से कार्यकर्ता से लेकर कई पदों की जिम्मेदारी निभा चुके है। प्रबोध व्यास वर्तमान समय में भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष थे। इसके पहले नगर अध्यक्ष से लेकर महामंत्री सहित संगठन के कई पदों की जिम्मेदारी मिल चुकी है। निर्विवाद चेहरा होने के कारण भाजपा के लिए रीवा महापौरी की सीट प्रतिष्ठा बन गई। ऐसे में संगठन से लेकर खुद सीएम तक ताकत झोक रहे है।

रीवा शहर में अब तक के महापौर

रीवा शहर में पहली बार नगरीय निकाय के चुनाव की शुरूआत 1995 से हुई। तब कांग्रेस के अमीरुल्ला खान 7 जनवरी 1995 से 6 जनवरी 1997 के मध्य रीवा के महापौर रहे। वे पार्षदों द्वारा चुनकर मेयर की कुर्सी पाए थे। इसके बाद कांग्रेस की सावित्री पाण्डेय 7 जनवरी 1997 से 5 अक्टूबर 1997 तक महापौर पद की प्रभारी रहीं। वहीं कांग्रेस के कमलजीत सिंह डंग 6 अक्टूबर 1997 से 31 दिसंबर 1997 तक शासन से मनोनीत महापौर रहे।

1998 में जनता द्वारा पहली बार भाजपा के राजेन्द्र ताम्रकार 1 जनवरी से 1998 से 29 दिसंबर 1999 तक महापौर रहे। इसी तरह भाजपा की आशा सिंह 30 दिसंबर 1999 से 8 जनवरी 2005, भाजपा के वीरेंद्र गुप्ता 9 जनवरी 2005 से 10 जनवरी 2010, भाजपा के शिवेन्द्र सिंह पटेल 11 जनवरी 2010 से 1 जनवरी 2015 और भाजपा की ममता गुप्ता 2 जनवरी 2015 से 1 जनवरी 2020 तक जनता द्वारा चुनकर मेयर की कुर्सी पाई थी।

REWA NEWS REWA NEWS LIVE REWA NEWS MEDIA LATEST NEWS REWA BREAKING REWA LIVE TODAY NEWS BIG NEWS REWA MP NEWS NOW 

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read