REWA : सूबेदार बेटे ने पिता की मौत से लिया सबक : पुण्यतिथि पर परिवार के साथ जा रहे 10 बाइक राहगीरों को बांटे हेलमेट

 

REWA : सूबेदार बेटे ने पिता की मौत से लिया सबक : पुण्यतिथि पर परिवार के साथ जा रहे 10 बाइक राहगीरों को बांटे हेलमेट

REWA NEWS : ऋतुराज द्विवेदी,रीवा। पिता की याद में एक सूबेदार बेटा 12 सालों से सड़क पर चलने वाले राहगीरों को हेलमेट बांट रहा है। सूबेदार हेलमेट बांटने का यह काम अपने पिता की पुण्यतिथि पर हर साल करते है। उनका मानना है कि पिता को खोने का जो दुख हमने सहा है वह दुख किसी और को ना मिले।

दरअसल सूबेदार के पिता सड़क हादसे में अपनी जान गवां दी थी और उनकी जान हेलमेट ना लगाने की वजह से हुई थी। इस हादसे और पिता की मौत से सीख लेकर सूबेदार अब लोगों को हेलमेट बांटकर समझाइस दूसरों की जान बचाने का काम कर रहे है।

दरअसल रीवा शहर के यातायात थाने में पदस्थ सूबेदार अखिलेश कुशवाहा के पिता राम विश्वास कुशवाहा का निधन 16 जुलाई 2010 को सतना जिले के माधवगढ़ में बस की टक्कर लग जाने से हो गया था। वह नियमित हेलमेट लगाते थे लेकिन जिस दिन यह दुर्घटना हुई उस दिन वह हेलमेट भूल गए थे। उनके पूरे शरीर में कहीं भी चोट नहीं आई थी मात्र सिर पर चोट आने की वजह से उनका निधन हो गया था। इस घटना के बाद से सूबेदार बेटे ने हेलमेट को मुहिम बना लिया वे अब हर बाइक सवार को हेलमेट पहनने की समझाएं देते हैं।

शनिवार को उन्होंने विश्वविद्यालय बाईपास में वाहनों की चेकिंग लगाकर करीब 10 बाइक सवारों को हेलमेट वितरित किए। उन्होंने ऐसे वाहन चालकों को चिन्हित किया जो अपने परिवार के साथ जा रहे थेए वाहन चालकों को रोक रोक कर उनको समझाएं दी और हेलमेट ना लगाने का कारण पूछा बाद में उनको हेलमेट वितरित किया गया। उन्होंने कहा कि हादसा होने पर सबसे ज्यादा मौत सिर पर चोट लगने की वजह से होती है जिससे बड़ी संख्या में लोग एक छोटी सी लापरवाही से काल के गाल में समा जाते हैं। सिर पर मौजूद हेलमेट आपका जीवन बचा सकता है इसलिए बाइक चलाते समय हेलमेट अनिवार्य रूप से लगाएं।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read