MP में सबसे घातक होने लगी तीसरी लहर : 24 घंटे के भीतर 22 साल के 2 युवाओं की मौत; आइए, जानते हैं दोनों पेशेंट्स में क्या समान था, कैसे लक्षण थे...

 

MP में सबसे घातक होने लगी तीसरी लहर : 24 घंटे के भीतर 22 साल के 2 युवाओं की मौत; आइए, जानते हैं दोनों पेशेंट्स में क्या समान था, कैसे लक्षण थे...

मध्यप्रदेश में कोविड की तीसरी लहर अब घातक होने लगी है। प्रदेश में 24 घंटे के भीतर 22 साल के दो कोरोना मरीजों की मौत हो गई। दोनों ही इलाज के लिए सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में भर्ती हुए थे। कोविड संक्रमित (covid infected) होने के बाद दोनों मरीज गंभीर हालत में भर्ती हुए थे, जहां उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट (ventilator support)

पर रखा गया था। दोनों में एक जैसे लक्षण थे और शुरुआती इलाज में लापरवाही मौत की वजह बनी। ऑक्सीजन लेवल दोनों का अचानक 60% के नीचे चला गया था। 

कोविड संक्रमित के फेफड़ों में पानी भरा… ऑक्सीजन 60 पर

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में सोमवार- मंगलवार की दरम्यानी रात कोविड संक्रमित 22 वर्षीय युवती की मौत हो गई। 8 जनवरी को उसे सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत पर भर्ती किया गया था। यहां हुई जांच में युवती कोविड संक्रमित (covid infected) थी। रिपोर्ट आने के बाद युवती को आईसीयू (icu) में इलाज के लिए भर्ती किया गया था। यहां ऑक्सीजन सेचुरेशन घटने पर वेंटिलेटर सपोर्ट पर ट्रीटमेंट दिया गया।

रविवार देर रात अचानक उसका ऑक्सीजन सेचुरेशन (oxygen saturation) लेवल 100% से घटकर 60% हो गया। ऐसा कोविड के कारण फेफड़ों में सीवियर निमोनिया के कारण हुआ था। इससे युवती के फेफड़ों में पानी भर गया। अस्पताल के आईसीयू (icu) में ही 10 जनवरी की सुबह 7 बजे युवती की मौत हो गई। युवती 10 दिन से बीमार थी और घर पर ही दवा ले रही थी। इसकी वजह से हालत गंभीर हो गई।

युवक की मौत के बाद आई कोविड टेस्ट रिपोर्ट

संत कबीर नगर में रहने वाले 22 वर्षीय युवक की बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में मौत हो गई। वह मजदूरी करता था। युवक को 1 जनवरी को सर्दी, खांसी और बुखार की शिकायत होने पर मेडिकल स्टोर (medical store ) से सामान्य दवाएं ली थीं। दवा लेने के बाद बुखार, सर्दी और खांसी ठीक हो गई। इसके चलते युवक ने मजदूरी शुरू कर दी। सोमवार (10 जनवरी) की दोपहर युवक को सांस लेने में परेशानी हुई।

आनन-फानन में इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल पहुंचा। जांच में युवक का ऑक्सीजन सेचुरेशन (oxygen saturation) का लेवल 70% निकला। डॉक्टरों ने इलाज शुरू करने के साथ ही, कोविड जांच के लिए उसका सैंपल भेज दिया। सोमवार- मंगलवार की दरम्यानी रात करीब साढ़े 12 बजे युवक की मौत हो गई, जबकि उसकी कोविड पॉजिटिव (covid possitive) रिपोर्ट दोपहर 1 बजे आई।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read