MP : नौ महीने में शादी के 50 मुहूर्त : अब जुलाई तक हर महीने बजेगी शहनाई मार्च में 2, जनवरी में सबसे ज्यादा 8 मुहूर्त

 

MP : नौ महीने में शादी के 50 मुहूर्त : अब जुलाई तक हर महीने बजेगी शहनाई मार्च में 2, जनवरी में सबसे ज्यादा 8 मुहूर्त

चार माह बाद 14 जुलाई को देव एकादशी के दिन भगवान उठेंगे। इसी दिन से मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। कोविड के प्रभाव से दूर इस बार शादी-विवाह की धूम रहेगी। नवंबर में सात तो दिसंबर में 06 शादी के मुहूर्त हैं। अगले साल 37 दिनों तक शहनाई बजेगी। पिछले दो साल से कोविड के चलते शादी टाल रहे लोगों के लिए इस बार शादी की ढेरों मुहूर्त हैं। हर महीने शादी के शुभ मुहूर्त हैं।

पंडित सुरेंद्र दुबे के मुताबिक 14 नवंबर को देव एकादशी है। मान्यता है कि भगवान विष्णु चार महीने के शयन के बाद कार्तिक माह की एकादशी के दिन जागते हैं। देव एकादशी के बाद से ही रुके हुए मांगलिक कार्य प्रारंभ होंगे। 15 नवंबर को शादी का पहला मुहूर्त है। 15 नवंबर से 14 जुलाई 2022 के बीच कुल 50 शादी के मुहूर्त हैं। सबसे कम मार्च में दो दिन तो सबसे अधिक जनवरी में 8 दिन शहनाई बजेगी।

शादी के हैं 14 जुलाई तक 50 मुहूर्त

नवंबर- 15, 16, 20, 21, 28, 29 व 30

दिसंबर- 01, 02, 06, 07, 11 व 13

जनवरी- 15, 20, 23, 24, 27, 27, 29 व 30

फरवरी- 05, 06, 11, 12, 18, 19 व 22

मार्च- 04 व 09

अप्रैल- 14, 17, 21 व 22

मई- 11, 12, 18, 20 व 25

जून- 10, 12, 15 व 16

जुलाई- 03, 06, 08, 10, 11 व 14

जबलपुर में सभी मैरिज गार्डन और बारात घर बुक

मोदीवाड़ा बारातघर के संचालक अरविंद कोरी के मुताबिक कोविड के चलते पिछले दो साल से बारातघर व मैरिज गार्डन वालों का धंधा मंदा पड़ा हुआ है। इस बार कोविड के साए से दूर शादी होने की उम्मीद है। मार्च तक की अभी से बुकिंग हो चुकी है। सद्भावना भवन के ग्लेडविन मसीह के मुताबिक उनके यहां अप्रैल तक लोग एडवांस दे चुके हैं। विजय बैंड के संचालक धर्मेंद्र कुमार के मुताबिक इस बार फरवरी तक की बुकिंग हो चुकी है। कई दिन तो तीन-चार बुकिंग हैं।

पार्किंग की व्यवस्था करनी होगी

ट्रैफिक एएसपी संजय अग्रवाल के मुताबिक सभी बारात घर और मैरिज गार्डन को सख्त हिदायत दी गई है कि शादी-पार्टी की बुकिंग पर सुरक्षा और वाहनों की पार्किंग उनकी जिम्मेदारी होगी। कहीं भी वाहनों की वजह से आवागमन बाधित हुआ तो उन पर सख्त कार्रवाई होगी। इसी तरह बारात निकालने वालों को भी सड़क पर आवागमन लायक जगह छोड़कर चलना होगा। बारातघर और मैरिज गार्डन में सीसीटीवी कैमरे लगा लें। इस बार शादी-विवाह को लेकर कोई बंदिश नहीं है।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read