gujarat cable bridge accident : 30 से ज्यादा की मौत, 60 से ज्यादा लोग घायल, सरकार की तरफ से रेस्क्यू और सर्च ऑपरेशन तेज से जारी

 
image

Gujarat Bridge Collapsed Video : गुजरात के मोरबी में केबल ब्रिज (cable bridge) टूटने से रविवार शाम बड़ा हादसा हो गया. 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. 60 से ज्यादा लोग घायल हैं. ये पुल 5 दिन पहले ही खोला गया था. यहां 7 महीने से मरम्मत कार्य हो रहा है. बताते हैं कि रविवार को छुट्टी होने पर लोग ब्रिज पर घूमने पहुंच गए. यहां करीब 300 से 400 लोग एकत्रित थे.  

ब्रिज की लंबाई 200 मीटर से ज्यादा
बता दे की ब्रिज की चौड़ाई करीब 3 से 4 फीट थी. ब्रिज टूटने के बाद कई लोग बीच में भी फंस गए हैं, जो टूटे हुए ब्रिज को पकड़कर किसी तरह बचने की कोशिश कर रहे हैं. हादसे के बाद सरकार की तरफ से रेस्क्यू और सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया गया है.

image

NDRF की टीमें मौके पर भेजी गई हैं. प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य और गृह मंत्री (health and home minister) भी घटना स्थल पर पहुंचेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने फोन कर गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल (CM Bhupendra Patel) से घटना के बारे में जानकारी ली. राज्य सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है. केबल ब्रिज काफी पुराना बताया जा रहा है. इसे महज 5 दिन पहले ही रिनोवेशन (Renovation) के बाद चालू किया गया था.

 

image

पिछले 7 महीने से इस पुल की मरम्मत चल रही थी. रिनोवेशन (Renovation) का काम एक ट्रस्ट ने किया था. इतने समय बाद पुल खुलने के कारण रविवार को बड़ी तादाद में लोग अपने परिवारों के साथ पुल पर तस्वीरें और सेल्फी लेने के लिए पहुंचे थे.

हादसे के बाद मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. एक अन्य मंत्री ने 35 लोगों की मौत होना बताया है. इसे गुजरात का झूला कहा जाता था. पांच दिन के भीतर हादसा होने से मरम्म कार्य पर सवाल उठने लगे हैं.

image

बताते हैं कि पुल को खोलने से पहले फिटनेस सर्टिफिकेट (fitness certificate) नहीं लिया गया था. लोगों का कहना है कि अगर काम पूरी नहीं हुआ तो पहले क्यों खोला गया था. लोगों ने कहा कि 7 महीने तक रिनोवेशन का काम चला है.

गृह मंत्री ने बताया कि घटना के वक्त 150 से ज्यादा लोग मौजूद थे. 77 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना के बाद सवाल उठ रहा है कि इतनी बड़ी संख्या में लोग पुल पर कैसे पहुंच गए. वहीं, अंधेरा होने की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत हो रही है.

image

लोगों का कहना है कि रविवार होने की वजह से छुट्टी थी. ऐसे में बड़े, बुजुर्ग और बच्चे भी पुल पर घूमने पहुंचे थे. हादसे के बाद अफरा-तफरी मच गई. जो लोग तैर लेते थे, वे बाहर निकल आए. बाकी लोग नदी में फंस गए. पीएम मोदी ने स्थिति की बारीकी से और लगातार निगरानी करने और प्रभावित लोगों को हर संभव मदद देने के लिए भी कहा है.

Related Topics

From Around the Web

Latest News