Delhi love jihaad : लिव-इन में रह रही प्रेमिका के 35 टुकड़े करके फ्रिज में रखें, 2 बजे रात दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में टुकड़ों को फेंका

 
IMAGE

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को दिल दहला देने वाले हत्याकांड का खुलासा किया। 18 मई यानी करीब 6 महीने पहले लिव इन पार्टनर आफताब ने अपनी 26 साल की प्रेमिका श्रद्धा की बेरहमी से हत्या कर दी। उसके शव को आरी से काटा। नया फ्रिज लाया ताकि टुकड़े उसमें रख सके और बदबू दबाने के लिए अगरबत्ती सुलगाता था।

आफताब 18 दिन तक रोज रात 2 बजे उठता और शव के टुकड़े जंगल में फेंक आता था। पुलिस ने आफताब को शनिवार को अरेस्ट किया। इसके बाद उसने श्रद्धा की हत्या की सनसनीखेज कहानी बताई। इधर, कोर्ट ने आफताब को 5 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।

IMAGE

प्यार का अंजाम कभी कभी बुरा भी होता है यह तो सभी जानते हैं लेकिन प्यार का अंजाम कभी कभी खौफनाक भी हो जाता है। जी हाँ, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से अपराध का एक ऐसा मामला सामने आया है जोकि किसी की भी रुह को कँपाने की ताकत रखता है। दिल्ली के आफताब नामक एक शख्स ने पहले तो मुंबई की श्रद्धा नामक लड़की को प्यार के जाल में फँसाया और उसके बाद उसे लिव-इन में रहने के लिए मनाया। जब श्रद्धा के घरवालों ने इस रिश्ते का विरोध किया तो दोनों दिल्ली रहने आ गये और महरौली इलाके में रहने लगे। कुछ दिनों बाद श्रद्धा ने आफताब पर शादी के लिए दबाव बनाना शुरू किया तो आफताब को यह पसंद नहीं आया। रिपोर्टों के मुताबिक आफताब ने पहले तो श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी और उसके बाद उसके शव के 35 टुकड़े कर डाले।

आफताब के सामने अब चुनौती यह थी कि वह श्रद्धा के शव के टुकड़ों को ठिकाने कैसे लगाये तो इसके लिए इस निर्मम हत्यारे ने 300 लीटर का एक फ्रीज खरीदा ताकि वह उसमें शव के टुकड़ों को रख दें। आफताब ने चूंकि 18 मई को श्रद्धा की हत्या की थी और उस समय भयंकर गर्मी में शव के टुकड़ों की बदबू आसपास के लोगों के बीच फैल सकती थी इस डर से आफताब फ्रीज लेकर आया और उसमें शव के टुकड़े भर दिये। इसके बाद वह रोज रात को दो बजे घर से शव के कुछ टुकड़ों को पॉलिथीन बैग में लेकर निकलता था और अलग-अलग इलाकों में उन्हें फेंक कर आ जाता था जिससे किसी को शक नहीं हो।

image

वारदात से पहले कई अमेरिकी क्राइम मूवीज और शोज देखे

पूरे मामले पर सूत्रों ने पुलिस के हवाले से बताया कि आफताब ने वारदात से पहले अमेरिकी क्राइम शो डेक्स्टर समेत कई क्राइम मूवीज और शोज देखे थे। इसके बाद ही उसने श्रद्धा का मर्डर किया और आरी से काटकर उसकी बॉडी के 35 टुकड़े किए।

फ्रिज में रखता था टुकड़े
उसने बॉडी पार्ट्स को सुरक्षित रखने के लिए बाजार से एक बड़ा फ्रिज भी खरीदा। वह रोज कुछ टुकड़े फ्रिज से निकालता और जंगल में ठिकाने लगाने निकल पड़ता। यह सिलसिला 18 दिन तक चलता रहा। इतना ही नहीं, आफताब ने सबूत मिटाने के लिए गूगल पर खून साफ करने का तरीका भी सर्च किया था।

साइकोलॉजिकल थ्रिलर शो है डेक्स्टर
डेक्स्टर एक अमेरिकी क्राइम ड्रामा और साइकोलॉजिकल थ्रिलर शो है, जो 2006 से 2013 के बीच ऑनएयर हुआ। इसके 8 सीजन हैं। इस शो का मुख्य किरदार डेक्स्टर मॉर्गन दिन में पुलिस के लिए फोरेंसिक टेक्नीशियन के तौर पर काम करता है, जबकि रात को वह सीरियल किलर के तौर पर उन अपराधियों का मर्डर करता है जिन्होंने बर्बर अपराध किए, लेकिन कानून ने उन्हें सही सजा नहीं दी।

कौन है अफताब?
आफताब अमीन फूड ब्लॉगर है। इंस्टाग्राम पर उसका पर्सनल अकाउंट द हंगरी छोकरो (thehungrychokro) के नाम से है, जबकि उसका फूड ब्लॉग इंस्टाग्राम पर द हंगरी छोकरो_एस्कैपेड्स (thehungrychokro_escapades) नाम से है। अपने पर्सनल ब्लॉग पर उसने आखिरी फोटो 3 मार्च 2019 को पोस्ट किया था। अपने फूड ब्लॉग से उसने आखिरी फोटो 2 फरवरी को पोस्ट किया था।

कैसे मिले आफताब-श्रद्धा ?
2019 में मुंबई के एक कॉलसेंटर में काम करने के दौरान श्रद्धा की आफताब से मुलाकात हुई। दोनों एक डेटिंग ऐप के जरिए मिले थे। उनके रिश्ते से परिवार वाले नाखुश थे। इसके चलते वे मुंबई से दिल्ली शिफ्ट हो गए और महरौली के एक फ्लैट में लिव-इन में रहने लगे।

पिता को कैसे हुआ शक ?
श्रद्धा अपने क्लासमेट लक्ष्मण से कॉन्टैक्ट में थी। लक्ष्मण ही श्रद्धा के पिता विकास मदन वॉकर को जानकारी देता था। जब श्रद्धा ने कई दिन तक लक्ष्मण का फोन नहीं उठाया तो उसने श्रद्धा के पिता को जानकारी दी। इस पर पिता ने कहा कि सोशल मीडिया पर भी कोई अपडेट नहीं मिल रही है। विकास बेटी का हालचाल जानने 8 नवंबर को दिल्ली पहुंचे। जब वे उसके घर पहुंचे तो ताला लगा था। उन्होंने महरौली पुलिस में बेटी के अगवा होने की शिकायत की।

image

कब हुई श्रद्धा का हत्या ?
साउथ दिल्ली के एडिशनल DCP अंकित चौहान ने बताया, 18 मई को झगड़े के बाद आफताब ने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसने उसकी बॉडी के 35 टुकड़े किए और उन्हें फ्रिज में रख दिया। पुलिस ने बताया कि वह हर रोज रात को 2 बजे घर से निकलता और टुकड़ों को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में ठिकाने लगाता।

कैसे लगाया लाश को ठिकाने?
पुलिस के मुताबिक आफताब ने शव के टुकड़े करने के लिए आरी का इस्तेमाल किया। उसने पहले उसके हाथों के तीन टुकड़े किए। इसके बाद पैर के भी तीन टुकड़े किए। इसके बाद रोज वह बैग में रखकर इन्हें फेंकने के लिए ले जाता। हत्या के बाद 300 लीटर का फ्रिज खरीदा, ताकि टुकड़े उसमें रख सके। अगरबत्ती जलाता था, ताकि बदबू को दबाया जा सके।

image

आफताब ने हत्या की क्या वजह बताई?
पिता की शिकायत पर पुलिस ने आफताब को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होता रहता था। वह शादी के लिए दबाव बना रही थी। आफताब के कई दूसरी लड़कियों से भी रिश्ते थे और श्रद्धा को उस पर शक हो रहा था। इस बात पर भी दोनों के बीच विवाद होता था। आफताब ने तंग आकर हत्या कर दी। अब पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज कर श्रद्धा की बॉडी को सर्च करना शुरू कर दिया है।

जंगल से टुकड़े मिले, पुलिस ने क्या कहा?
दिल्ली पुलिस ने कहा कि आफताब की निशानदेही पर हमें जंगलों से कुछ टुकड़े मिले हैं। अभी यह नहीं कहा जा सकता है कि ये टुकड़े श्रद्धा के ही हैं। बाकी अंगों की भी तलाश की जा रही है। अभी जो टुकड़े मिले हैं, वो जानवर के भी हो सकते हैं। जांच के बाद ही यह साफ होगा।

Related Topics

From Around the Web

Latest News