live update gujarat bridge accident : अब तक 77 लोगों की मौत, 70 घायल, 50 से ज्यादा लोग लापता : 10 नावें, आर्मी की प्लाटून तैनात

 
image
गुजरात के मोरबी में मच्छु नदी पर बने केबल ब्रिज के अचानक टूट जाने से कई लोग नदी में गिर गए. हादसे के बाद इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है. करीब 77 लोगों की मौत हो गई है. इतने ही लोग घायल बताए जा रहे हैं. पुलिस और प्रशासन की तरफ से मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है. लोगों को नदी से बाहर निकाला जा रहा है.

image

गुजरात के मोरबी में रविवार शाम बड़ा हादसा हो गया. यहां मच्छु नदी में बना केबल ब्रिज अचानक टूट जाने से कई लोग नदी में गिर गए. मौके पर मौजूद गुजरात के पंचायत मंत्री बृजेश मेरजा के मुताबिक हादसे में करीब 77 लोगों की मौत हो चुकी है और 70 लोग घायल बताए जा रहे हैं. जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बचे हुए लोगों को नदी से निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. अब भी 50 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रेह हैं. ब्रिज रिनोवेशन के बाद हाल ही में चालू किया गया था.

image

बताया जा रहा है कि हादसे के समय पुल पर बड़ी तादाद में भीड़ मौजूद थी. रेस्क्यू ऑपरेशन में स्थानीय लोग भी पुलिस और प्रशासन की मदद कर रहे हैं. NDRF की 2 टीम मोरबी में रेस्क्यू ऑपरेशन में शामिल हैं. हादसे की भयावहता को देखते हुए भारतीय वायु सेना (IAF) के गरुड़ कमांडो की टीम को रवाना कर दिया गया है. कई लोगों के डूबने की आशंका जताई जा रही है. 
गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल घटनास्थल पर पहुंचे.
  • मोरबी पुल पर एक साथ पहुंचे थे सैकड़ों लोग
  • मोरबी हादसे की जांच के लिए SIT गठित, हेल्पलाइन नंबर जारी 
  • मोरबी में मच्छु नदी पर बना ब्रिज टूटकर नदी में समाया
  • मोरबी: संडे को सैर पर पहुंचे थे सैकड़ों लोग, ऐसे 'काल' बन गया केबल ब्रिज 
IAF की गरुड़ कमांडो टीम को रवाना किया गया.
मोरबी कलेक्टर ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया.
गुजरात सरकार ने किया SIT का गठन.
गुजरात के मंत्री बृजेश मेरजा मौके पर पहुंचे.
सीएम भूपेंद्र पटेल मोरबी के लिए रवाना हुए.
10 नावें, आर्मी की प्लाटून तैनात
NDRF की दो टीमें पहुंच गई हैं. इनमें एक गांधीनगर और एक वडोदरा की है. SDRF की तीन प्लाटून राजकोट से पहुंची हैं. SRP की एक प्लाटून जामनगर से आई है. आर्मी की दो प्लाटून हैं. एक सुरेंद्र नगर और एक कच्छ से हैं. राजकोट नगर निगम की 10 नावें और फायर ब्रिगेड की टीमें भी पहुंची हैं.
हेल्पलाइन नंबर जारी
गुजरात सरकार ने हादसे की जांच के लिए 5 लोगों की SIT का गठन कर दिया है, जिसमें म्युनिसिपल कारपोरेशन के एक IAS अधिकारी, एक क्वालिटी कंट्रोल इंजीनियर और 3 अन्य आधिकारी शामिल रहेंगे. इसके अलावा CID की एक टीम भी इसकी जांच करेगी. हादसे के बाद जिसके परिवार के सदस्य फंसे या लापता हैं. उनकी जानकारी के लिए जिला कलेक्टर कार्यालय के आपदा नियंत्रण कक्ष ने हेल्पलाइन नंबर 02822 243300 जारी किया है.
सेल्फी लेने में व्यस्त थे लोग
पिछले 7 महीने से इस पुल की मरम्मत चल रही थी. रिनोवेशन का काम एक ट्रस्ट के जरिए किया गया. इतने समय बाद पुल खुलने के कारण रविवार को बड़ी तादाद में लोग अपने परिवारों के साथ पुल पर तस्वीरें और सेल्फी लेने के लिए पहुंचे थे. ब्रिज की लंबाई 200 मीटर से ज्यादा थी. चौड़ाई करीब 3 से 4 फीट थी.
मृतकों को 6 लाख, घायलों को 1 लाख मुआवजा
गुजरात सरकार ने मृतकों के परिवार को 4 लाख और घायलों के परिवार को 50 हजार रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया है. वहीं, पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से हादसे में जान गंवाने वालों के परिवार को 2 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए मुआवजा दिए जाने का ऐलान किया है.
70 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया
गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि सीएम भूपेंद्र पटेल मोरबी पहुंचने वाले हैं. उन्होंने कहा, 'मैं इस मामले पर राजनीति नहीं करने की अपील करूंगा. गुजरात के सीएम तुरंत वडोदरा से रवाना हुए हैं. 70 से ज्यादा लोगों को बचा लिया गया है. उन्हें अस्पताल ले जाया गया है. अधिकांश लोग खतरे से बाहर हैं.'
मोरबी के लिए रवाना हुए पटेल
गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल ने हादसे पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि वे आज अपने सभी आगामी कार्यक्रम रद्द करके मोरबी के लिए रवाना हो गए हैं. राहत और बचाव कार्य जारी है. घायलों के तत्काल उपचार की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं. मैं इस संबंध में जिला प्रशासन के लगातार संपर्क में हूं.
अरविंद केजरीवाल ने भी किया ट्वीट

 

Related Topics

From Around the Web

Latest News