REWA : आकाशगंगा मोबाइल शॉप पर GST का छापा, लोकल कंपनी के मोबाइल को ओरिजिनल बनाकर ग्राहकों को लगाता था चूना

 
IMAGE

रीवा. सिविल लाइन थाना क्षेत्र स्थित शिल्पी प्लाजा मुख्य बाजार में संचालित आकाशगंगा मोबाइल शॉप पर जीएसटी का छापा. जीएसटी टीम मोबाइल शॉप के अंदर खंगाल रही दस्तावेज। लोकल कंपनी के मोबाइल को ओरिजिनल बनाकर बेचने की मिली थी शिकायत .

मोबाइल शॉप संचालक द्वारा ग्राहकों को लाखों करोड़ों का लगाया जा रहा चूना, पूर्व में भी कई ग्राहक कई जगह कर चुके हैं शिकायत. आकाश गंगा मोबाइल संचालक द्वारा विवादित भूमि खरीदने शासकीय भूमि पर अवैध कब्जे को लेकर मामले में भी कई बार नाम आ चुका सामने मोबाइल संचालक द्वारा एनजीटी की गाइडलाइन को उल्लंघन करते हुए बिहार नदी पर किया गया अवैध रूप से कब्जा प्लाटिंग कर कर रहे हैं जमीन की बिक्री.

रीवा जिले में लगातार छापेमार कार्यवाही की जा रही है जहां पूर्व में भी शिल्पी प्लाजा स्थित आकाशगंगा मोबाइल में कार्यवाही की जा चुकी है। जहां बड़े पैमाने पर ग्राहकों द्वारा यह शिकायत की जा रही थी कि आकाशगंगा मोबाइल संचालक द्वारा डुप्लीकेट कंपनी को ओरिजिनल बताकर मोबाइल दिया जा रहा है साथ ही 0% ब्याज का बोर्ड लगाकर ग्राहकों से तीन या चार हज़ार तक का डाउन पेमेंट लिया जाता है। वही बीमा के नाम पर यह कहा जाता है कि यह आदमी का बीमा है मोबाइल का बीमा नहीं है, जब ग्राहक द्वारा मोबाइल फोन गुम हो जाता है या किसी भी प्रकार की समस्या आ जाती है तो यह कहा जाता है कि यह मोबाइल फोन का बीमा नहीं आदमी का बीमा होता है, आदमी के खत्म होने पर हमारे द्वारा आपको पैसे दिए जाएंगे और फिर जब इस बात को लेकर दुकानदार से बातचीत की जाती है तो वह बाहरी लड़कों को बुलवाकर मारपीट करने के लिए उतारू हो जाता है जिसकी शिकायत पूर्व में भी की जा चुकी है। 

ऐसा ही एक मामला 2017 में हुआ था जहां युवक द्वारा आकाशगंगा मोबाइल शॉप से विवो का मोबाइल खरीदा गया और 0% का डिस्काउंट दिखाकर चार हज़ार रुपये लिए गए थे। जब युवक द्वारा यह पूछा गया कि आप किस चीज के चार हज़ार ले रहे हैं, तब मोबाइल संचालक मन्नी द्वारा यह कहा गया कि यह मोबाइल फोन का बीमा नहीं है यह इंसान का बीमा है वही जब इस बीमे की पूरी जानकारी ली गई तो दुकान संचालक एवं वहां पर काम कर रहे लोगों ने युवक को बातों ही बातों में घुमाना शुरू कर दिया। युवक द्वारा फोन तो ले लिया गया वहीं जब फोन में समस्या आना शुरू हुई तो युवक पुनः खरीददारी की गई दुकान में पहुंचा जब मोबाइल फोन की शिकायत दुकान संचालक को दी गई तब दुकान संचालक उससे मारपीट करने के लिए उतारू हो गया और यह कहा गया कि यह कंपनी से ही ऐसा मोबाइल आया है। 
आपको बता दें कि शिल्पी प्लाजा स्थित आकाशगंगा मोबाइल में बड़े पैमाने पर डुप्लीकेट मोबाइल बेचे जाते हैं जहां पर डुप्लीकेट कंपनी के मोबाइल को ओरिजिनल बनाकर यह कहा जाता है कि हमारे यहां यह कंपनी का मोबाइल है और हमारे दुकान के अलावा आपको पूरे रीवा जिले में इस तरह और हमारे जैसे रेट का मोबाइल कहीं भी नहीं मिलेगा। हम सबसे अच्छा और सही रेट पूरे रीवा शहर में देते हैं। हमारे आगे बड़े बड़े मोबाइल शॉप फिर वह चाहे बॉबी मोबाइल शॉप हो या मनोज मोबाइल शॉप हो हमारे यहां सबसे सही और फिक्स दाम दिए जाते हैं। अभी जीएसटी की छापामार कार्यवाही लगातार जारी है।

IMAGE

बता दे की सिविल लाइन थाना अंतर्गत शिल्पी प्लाजा में सेंट्रल जीएसटी ने छापा मार कार्रवाई की है। सूत्रों की मानें तो आकाश गंगा मोबाइल शॉप में दबिश दी है। वहां लेनदेन के दस्तावेज खंगाले जा रहे है। दावा है कि लाखों रुपए की कर चोरी की संभावना है। ऐसे में दुकान का शटर गिराकर अंदर सर्चिंग की जा रही है। खबर लिखे जाने तक जीएसटी टीम बारी-बारी से दुकान का स्टाक, खातों का लेनदेन जांच रही थी।

image

जानकारी के मुताबिक सोमवार की सुबह 11 बजे सेंट्रल जीएसटी टीम ने गंगा मोबाइल शॉप में रेड कार्रवाई की है। चर्चा है कि दुकानदार लोकल कंपनी के मोबाइल को ओरिजिनल बनाकर बेचता था। ऐसे में लाखों रुपए की कमाई ग्राहकों को चूना लगाकर की है। जिसकी शिकायत उपभोक्ताओं ने जीएसटी कार्यालय में जाकर की थी। ऐसे में वरिष्ठ अधिकारियों ने मामले को संज्ञान में लेकर गोपनीय जांच की थी।

image

सुबह से शाम तक चलती रही कार्रवाई
31 अक्टूबर की सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक आकाश गंगा मोबाइल शॉप का शटर गिरा रहा है। जबकि पूरा दिन सेंट्रल जीएसटी टीम के आला अधिकारी दुकान के अंदर ही मौजूद रहे है। आधा दर्जन सदस्यों वाली टीम ने मीडिया से बात तक नहीं की है। अनुमान है कि देर रात तक कार्रवाई जारी रहेगी। जिससे बड़ी जीएसटी चोरी का पर्दाफाश हो सके।

Related Topics

From Around the Web

Latest News