रीवा शहर में नियमों की अनदेखी : दुकानों में बेचें जा रहे एक्सपायरी पानी पाऊच व बोतलें, जिम्मेदारों ने साधी चुप्पी : बड़े पैमानें में चल रहा गोरखधंधा

 
image google
रीवा वासियों की सेहत के साथ खिलवाड़, प्रशासन मौन, नहीं हो रही कार्यवाही, मार्केट में डुप्लीकेट पानी की बोतल मिलने के कारण दुकानदार भी हो रहे परेशान, आए दिन लॉन्च हो रही पानी बोतल की नई-नई कंपनियां।आखिर कब होगी इन लापरवाह होलसेल दुकानदारों पर कार्रवाई, क्यों खेला जा रहा है यह सेहत के साथ पानी का बड़ा खेल, बाजारों में धड़ल्ले से बिक रही डुप्लीकेट पानी की बोतल और डुप्लीकेट पानी की बोरियां?
  • पूर्व कलेक्टर के निर्देश पर रीवा शहर में हुई थी ताबड़तोड़ छापेमार कार्यवाही, कई पानी बनाने वाले प्लांट पर हुई थी छापामार कार्यवाही
  • हर होटल, रेस्टोरेंट्स, चाय कैफे में दी जाती है पानी की डुप्लीकेट बोतल, कुछ होटलों में वसूली जाते हैं पानी की बोतल के मनमाने रुपए
  • रीवा वासी हो जाए सावधान : शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक बिक रहा एक्सपायरी डेट वाला पानी पाउच और बोतल
आपको बता दें कि इन दिनों रीवा शहर में खासकर शहरी क्षेत्र से लेकर ग्रामीण इलाकों में बड़े पैमाने पर पानी के पाउच और बोतल को बेखौफ होकर धड़ल्ले से एक्सपायरी के बाद भी बेची जा रही है। रीवा शहर में अथवा शहर से महज कुछ मीटर दूर इनकी फैक्ट्रियां है जहां बड़े पैमाने पर खराब पानी के साथ पानी की पैकिंग की जाती है। साथ ही उसी खराब पानी के साथ लोकल बॉटल के ऊपर अपनी कंपनी का स्टीकर चिपका कर मार्केट में ₹20 का लेबल लगाकर पानी को मार्केट में बेचा जा रहा है।

image

पानी का डुप्लीकेट खेल शहर के बीच बाजार छोटी दरगाह,खन्ना चौराहा, भगवान सीत भंडार के पीछे, रानीगंज, नगर निगम के सामने,सिरमौर चौराहे में तानसेन कांप्लेक्स, होटल विष्णु विलास के सामने सहित शहर में कई जगह पर चोरी के साथ धड़ल्ले से इनकी डुप्लीकेट वैरायटी बाजार में उतारकर बड़ी मात्रा में पानी का खेल खेला जा रहा है।
पूर्व कलेक्टर इलैयाराजा टी के निर्देश पर जगह-जगह पानी के भंडारों पर छापेमार कार्रवाई की गई थी, जहां बड़े पैमाने पर लापरवाही पाए जाने पर जुर्माना भी लगाया गया था। हर डुप्लीकेट पानी की वैरायटी इनके यहां बड़े पैमाने पर पेटी पर पेटी उपलब्ध है।
रीवा। पाऊच बनाने की कई फैक्ट्रियां आसपास के इलाकों में चल रही हैं जिसमें पाउच में पानी भरकर उसको बेचा जाता है। यहां पर अमानक स्तर पर की पैकिंग करके पानी पाऊच दुकानों में पहुंचाया जाता है जहां से वह लोगों को बेचा जाता है। दरअसल पाउच में बंद पानी का तीन माह तक उपयोग किया सकता है लेकिन महीनों पुराने पाऊच बिक रहे है जिनमें एक्सपाइरी डेट तक दर्ज नहीं होती है। इस तरह लोगों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
लंबे समय से यह गोरखधंधा चल रहा है जिससे जिम्मेदारों ने मुंह मोड़ रखा है। मीठे पानी के पानी पर लोगों तक जहर पहुंचाया जा रहा है। हालांकि कई बार अधिकारियों ने कार्रवाई की है लेकिन वह दिखावे तक ही सीमित होकर रह गई है। मनमानी पर अंकुश नहीं लग पाया है। हजारों की संख्या में पानी पाऊच हर दिन होटलों में खप रहे है। ग्राहकों को दुकानों में परोसा जा रहा है लेकिन न तो एक्सपाइरी डेट की चिंता दुकानदारों को रहती है और न ही पीने वाले उसमें डेट पढ़ते है। यही कारण है कि कारोबार लंबे समय से फलफूल रहा है। जिस तरह से अधिकारियों द्वारा अनदेखी की जा रही है उससे शीघ्र मनमानी पर अंकुश लगने की उम्मीद भी नजर नहीं आ रही है।

Related Topics

From Around the Web

Latest News