REWA : दो बच्चों की मां को हवस का शिकार बनाने वाला रेपिस्ट आरक्षक पहुंचा सलाखों के पीछे, अनुशासन हीनता के चलते पुलिस लाइन ट्रांसफर किया था

 
aropi

REWA NEWS : रीवा जिले की महिला थाना पुलिस ने रेपिस्ट आरक्षक (rapist constable) को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। पुलिस के मुताबिक शादी का झांसा देकर तीन वर्ष से पुलिसकर्मी दैहिक शोषण (physical abuse) कर रहा था। उसने दो बच्चों की मां को कई बार हवस का शिकार बनाया। जब भी पीड़िता ने विरोध किया, तब जल्द शादी का वादा करता रहा। कुछ दिन पहले पीड़िता आरक्षक के इरादों को भांपकर पुलिस अधीक्षक (Police Officer) से लेकर महिला थाने में शिकायत की।

जानिए पूरा मामला
मिली जानकारी के मुताबिक रीवा पुलिस लाइन (Rewa Police Line) में पदस्थ आरक्षक पुष्पेन्द्र साकेत (Constable Pushpendra Saket) (23) निवासी सतना का 32 वर्षीय महिला रूचि (परिवर्तित नाम) का प्रेम प्रसंग चल रहा था। दावा है कि तीन साल पहले दो बच्चों की मां को आरक्षक दिल दे बैठा। दोनों में नजदीकियां बढ़ी तो महिला अपने पति को छोड़ प्रेमी के साथ रहने लगी। आरक्षक शादी का वादा कर पति की तरह तीन साल तक साथ दिया। साथ ही झांसा देकर रेप करता रहा।

ऐसे आया आरक्षक में बदलाव
बता दे कि 6 माह पहले तक आरोपी आरक्षक शहर के एक थाने में पदस्थ था। फिर एक अनुशासन हीनता के चक्कर में पुलिस लाइन पहुंच गया। यहीं से आरक्षक के स्वभाव में बदलाव होने लगा। वह महिला से किए वायदों को पूरा नहीं कर रहा है। बल्कि गोलमाल जवाब देने लगा। आरक्षक की हरकतों से तंग आकर महिला पुलिस के पास फरियाद लेकर पहुंची। जिसके बाद आरक्षक को रेप का आरोपी बनाया गया है।

वर्जन महिला थाना प्रभारी
बता दे की निरीक्षक निशा मिश्रा (Inspector Nisha Mishra) ने पीड़िता के शिकायतों की जांच की। सही पाए जाने पर आरक्षक क्रमांक 418 पुष्पेंद्र साकेत वर्तमान पदस्थापना पुलिस लाइन रीवा के खिलाफ महिला थाने में 376 (2) (एन), 506 का अपराध दर्ज किया। जिसको गुरुवार की शाम जिला न्यायालय में पेशकर केन्द्रीय ​जेल रीवा (Central Jail Rewa) भेज दिया है। रेप का मामला सामने आने पर आरक्षक को एसपी नवनीत भसीन (SP Navneet Bhasin) ने निलंबित कर दिया है।

SP  ने की कार्यवाही
पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन (SP Navneet Bhasin) को जैसे ही गुरुवार की देर शाम आरक्षक को रेप के बाद जेल जाने की जानकारी मिली। वैसे ही पत्र जारी कर आरक्षक क्रमांक 418 पुष्पेन्द्र साकेत को निलंबित कर दिया है। साथ ही कहा है कि आरक्षक का कृत्य गंभीर अपराध है। जिससे विभाग की छवि धूमिल हुई है। ऐसे में रक्षित केन्द्र रीवा अटैच किया जाता है।

Related Topics

From Around the Web

Latest News