हिन्दी फिल्म ए टायलेट की तरह रीवा में भी एक मामला उजागर, घर में शौचालय न होने से पति पत्नी के बीच विवाद

 
शौचालय के लिए टूटने की कगार पर पहुंचा नवदम्पति का परिवार
लौर थाना क्षेत्र की नवविवाहिता ने महिला थाने में की शिकायत

REWA NEWS। हिन्दी फिल्म ए टायलेट (Toilet Ek Prem Katha ) की तरह रीवा में भी एक मामला सामने आया है। घर में शौचालय न होने से पति पत्नी के बीच विवाद हो रहा है और अब महिला ससुराल में शौचालय निर्माण (construction of toilets) की जिद कर रही है। साल भर पूर्व दाम्पत्य जीवन में बंधा परिवार शौचालय के लिए टूटने की कगार पर पहुंच गया है। मामला थाने पहुंचा तो पुलिस अब उनको समझाईश देकर विवाद शांत करवाने का प्रयास कर रही है।

डिघवार में हुई थी शादी

लौर थाना क्षेत्र के डिघवार गांव का यह पूरा मामला है। महिला की शादी साल भर पूर्व हुई थी। महिला की ससुराल में शौचालय नहीं बना है और परिवार के लोग खुले मैदान में शौच के लिए जाते थे। इस बात को लेकर पति-पत्नी के बीच विवाद शुरू हो गया। पति महिला पर काफी देर तक बाहर रहने का आरोप लगाकर विवाद कर रहा है। वहीं महिला भी अब ससुराल में टायलेट निर्माण करवाने की जिद पर अड़ी है। पीडि़ता ने इस आशय की शिकायत महिला थाने में दर्ज कराई जिस पर पुलिस ने रविवार को काऊंसलिंग के लिए दोनों पक्षों को बुलवाया था।

समझाइश देकर शांत कराया विवादसमझाइशदेकर विवाद को हल करने का प्रयास किया। महिला ससुराल में शौचालय निर्माण की मांग कर रही थी जिस पर जल्द शौचालय निर्माण करवाने पर सहमति बनी है। एक तरफ तो समग्र स्वच्छता अभियान के तहत गांव-गांव में शौचालय निर्माण के दावे किये जा रहे है लेकिन दूसरी ओर शौचालय के लिए एक परिवार टूटने की कगार पर पहुंच गया है।

कंट्रोल रुम में आयोजित हुआ शिविर, समझाईश देकर 6 मामलों में कराया गया समझौता

रविवार को कंट्रोल रुम में परिवार परामर्श केन्द्र द्वारा शिविर का आयोजन किया गया था। इसमें विभिन्न थानों से घरेलू हिंसा से जुड़े मामलों को सुनवाई के लिए रखा गया था। करीब 18 मामलों को इसमें रखा गया था जिसमें 16 परिवार शिविर में आए थे। 

इस दौरान पेटियम प्वांइट से जितेन्द्र सिंह, अर्चना पटेल, शशि सिंह, परिवार परामर्श केन्द्र की काऊंसलर राखी खरे, महिला थाना प्रभारी निशा मिश्रा ने उनको दोनों पक्षों से बातचीत कर उनको समझाईश दी। 6 मामलों में समझौता कराया गया है और टूटता हुआ परिवार फिर बस गया। दो प्रकरणों में पति-पत्नी ने आपसी सहमति से अलग होने का निर्णय लिया है। वहीं शेष परिवार को सुनवाई के लिए अगली तारीख में बुलवाया गया है।

Related Topics

From Around the Web

Latest News