MP : रीवा में टोलकर्मी के पिटाई का वीडियो वायरल : 7 हजार रुपए की एक दर्जन थप्पड़ से भरपाई, मैनेजर ने कैशियर को बंधक बनाकर पीटा 

 
सोहागी थाना क्षेत्र के बंसल टोल प्लाजा का मामला
हरकत में आई पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू किए गिरफ्तार के प्रयास

रीवा जिले में एक टोलकर्मी के पिटाई का वीडियो सामने आया है। सूत्रों की मानें 7 हजार रुपए आउट स्टैंडिंग बनने पर मैनेजर ने कैशियर को बंधक बनाकर पीटा था। जिसका वीडियो दो दिन से सोशल मीडिया के कई ग्रुपों में वायरल हो रहा है। ऐसे में एसपी नवनीत भसीन ने वीडियों की पड़ताल कर सोहागी पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए।

जांच में पता चला है कि घटना दो महीने पुरानी है। उक्त वीडियो बंसल टोल प्लाजा सोहागी का है। यह टोल रीवा प्रयागराज मुख्य मार्ग के नेशनल हाईवे 30 में स्थित है। फिलहाल सोहागी पुलिस ने आईपीसी की धारा 342, 294, 323, 506 का अपराध दर्ज कर लिया है। साथ ही आरोपी मैनेजर को गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए गए है।

सोहागी थाना प्रभारी निरीक्षक ओपी तिवारी ने बताया कि 19 जून 2022 को बंसल टोल प्लाजा का मैनेजर उमेश मिश्रा ने कंपनी के कैशियर वाघ्यदेव पटेल 22 वर्ष निवासी घूमा थाना गढ़ को आफिस में बंद कर पीटा था। मैनेजर का आरोप था कि रोजाना होने वाली टोल वसूली के 7 हजार रुपए कैशियर ने नहीं जमा किए थे। मांगने पर नहीं दे रहा था।

इसलिए डरा धमका कर रूपए जमा कराने की कोशिश कर रहा था। जबकि पीड़ित टोककर्मी का कहना है कि पुराने मैनेजर को 7 हजार रुपए जमा कर दिया था। लेकिन कंपनी के पोर्टल में 7 हजार रुपए का लेनदेन दर्ज नहीं किया गया। ऐसे में वर्तमान मैनेजर उमेश मिश्रा दबाव बनाते हुए अन्य कर्मिचारियों की मौजूदगी में मारपीट कर अधमरा कर दिए।

7 हजार रुपए की एक दर्जन थप्पड़ से भरपाई

1.45 मिनट के वायरल वीडियो में 7 हजार रुपए की एक दर्जन थप्पड़ों से भरपाई की जा रही है। पुलिस का कहना है कि दो महीने पहले मैनेजर बनिया और हाप लोवर पहनकर टोल कार्यालय के अंदर पांच कर्मचारियों की मौजदूगी में सहकर्मी को कॉलर पकड़कर 10 से 15 चांटे मारे। साथ ही गिरेबान में हाथ डालते हुए इधर उधर घसीटता रहा। चांटे मार मारकर अधमरा कर जमीन में गिरा दिया। लेकिन अन्य साथियों ने विरोध तक नहीं दर्ज कराया।

मारपीट से चर्चा में रहता है टोल

पीड़ित कर्मचारी का आरोप है कि बंसल टोल प्लाजा अपनी कारगुजारी के लिए अक्सर चर्चित रहता है। यहां कब किसके साथ अभद्रता और मारपीट हो जाए। कोई नहीं जानता है। कुछ महीनों पहले सतना जिले के एक नायब तहसीलदार को कर्मचारियों ने बेदम पीटा था। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने वीडियो को संज्ञान लेकर 25 अगस्त को एफआईआर कर ली है।

Related Topics

From Around the Web

Latest News