BA सेकेंड ईयर की छात्रा की मौत : पापा, मैं अब जीना नहीं चाहती, मेरा मुंह दिखाने का धर्म नहीं रहा : 4 युवकों के बताए नाम

 
image

पापा मेरा जीना बेकार है, मैं अब जीना नहीं चाहती, मेरा मुंह दिखाने का धर्म नहीं रहा’... पिता से इतना कहने के बाद BA सेकेंड ईयर की छात्रा की मौत हो गई। 20 साल की छात्रा ने जहर खाया था, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती किया गया था। इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

मामला शिवपुरी जिले के कनाखेड़ी गांव का है। छात्रा ने जहर खाने के बाद पिता के पास जाकर 4 युवकों का नाम लिया था। मीडिया ने युवती के पिता से बात की।

पढ़िए पिता की जुबानी पूरी घटना

मेरी बेटी शिवपुरी से ग्रेजुएशन कर रही थी। दिवाली मनाने के लिए गांव आई थी। 30 अक्टूबर को वह खेत में गई थी। शाम को रोते-रोते मेरे पास आई। मैंने पूछा कि क्या हुआ तो उसने कहा - पापा मेरा जीना बेकार है, मैं अब जीना नहीं चाहती। मेरा मुंह दिखाने का धर्म नहीं रहा। मैंने जहर खाया है। बेटी से मैंने जहर खाने का कारण पूछा तो उसने सिर्फ यही बताया कि खेत में ज्यादा लोग नहीं थे। इसी बात का फायदा उठाकर अनिकेत सिंह धाकड़, लवकुश धाकड़, भरत धाकड़ और अनेक सिंह धाकड़ खेत में आ गए। अब मुझे जीना नहीं है। इतना कहकर बेटी बेहोश हो गई। मैं घबरा गया। उसे लेकर सीधा जिला अस्पताल गया। रातभर वह वहीं रही। हालत में सुधार नहीं आया तो मैं 31 अक्टूबर की सुबह उसे मेडिकल कॉलेज ले गया। सोमवार रात में बेटी नहीं रही...।

भाई के साथ शिवपुरी में रहती थी
छात्रा के भाई का कहना है कि आरोपी लवकुश और भरत कनाखेड़ी गांव के ही रहने वाले हैं। आरोपी अनेक और अनिकेत सिंघाड़ा गांव के रहने वाले हैं। आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। मैं अपनी बहन के साथ ही शिवपुरी में रहकर पढ़ाई कर रहा हूं।

मामले में क्या बोली पुलिस...
सिटी कोतवाली थाना प्रभारी सुनील खेमरिया छात्रा की मौत की जानकारी मिलने के बाद मेडिकल कॉलेज पहुंचे। उन्होंने परिजनों के बयानों के आधार पर मर्ग कायम कर छात्रा के शव का पोस्टमॉर्टम कराया। इसके बाद जीरो पर कायमी कर मामले की डायरी पोहरी थाने में भिजवा दी है। पुलिस ने फिलहाल सिर्फ छेड़खानी का मामला दर्ज किया है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद जरूरत पड़ने पर धाराएं बढ़ाई जाएंगी।

Related Topics

From Around the Web

Latest News