BHOPAL : शराब की दुकानों के बाद, मंदिरों को भी खोला जाना चाहिए : MP कांग्रेस


भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा लॉकडाउन के बीच शराब की दुकानों को खोलने के आदेश देने के बाद कांग्रेस ने शनिवार को मांग की है कि देश के अन्य राज्यों की तरह प्रदेश में धार्मिक स्थानों को भी खोलने की अनुमति दी जानी चाहिये। 

प्रदेश सरकार ने मई माह के पहले सप्ताह में रेड जोन को छोड़कर शेष इलाकों में शराब की दुकानें खोलने के आदेश दिये थे। इसके बाद प्रशासन ने शुक्रवार को रेड जोन में आने वाले भोपाल जिले में शराब की दुकानें खोलने की अनुमति दी है। 





पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया, ‘‘मध्यप्रदेश सरकार भी कर्नाटक और प.बंगाल की तरह एक जून से प्रदेश में सभी धर्मों के धार्मिक स्थल खोलने का निर्णय ले। आवश्यक मापदंडो का पालन सुनिश्चित करवाकर यह निर्णय लेकर इसे अमल में लाया जावे।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘ जब सरकार द्वारा प्रदेश में आमजन की इच्छा के विपरीत लॉकडाउन में भी शराब की दुकानें खोली जा सकती हैं तो आमजन की आस्था के केन्द्र धार्मिक स्थल अभी तक बंद क्यों ।’’ 

प्रदेश भाजपा ने इस पर कहा कि कांग्रेस हर मुद्दे पर दोगलेपन का शिकार होती है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, ‘‘ कांग्रेस इस बात को लेकर असमंजस में है कि वह एक क्षेत्रीय पार्टी है या राष्ट्रीय पार्टी। कांग्रेस पड़ोसी राज्यों में अपनी सरकारों को यही सलाह क्यों नहीं देती है।’’ अग्रवाल ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार लोगों की सुरक्षा के देखते हुए उचित समय पर उचित निर्णय लेगी।




Powered by Blogger.