REWA : महाराष्ट्र से रीवा पहुँचे 1200 मजदूर, बढ़ी भीड़, संक्रमण फैलने की बढ़ी आशंका


रीवा. लॉकडाउन का तीसरा दौर शुरू हो गया है। अभी तक प्रदेश के बाहर फंसे श्रमिकों के आने का सिलसिला जारी है। बुधवार को महाराष्ट्र से रीवा के लिए ट्रेन में भरकर 1200 श्रमिक रेलवे स्टेशन पहुंचे। एसडीएम फरहीन खान ने बताया कि श्रमिकों को घर भेजने की व्यवस्था पूरी कर ल ी गई है। सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में चिकित्सक, पुलिस सहित राजस्व अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। बड़ी संख्या में श्रमिकों के आने की सूचना से स्थानीय लोगों में कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ गई है। आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में सांसद जनार्दन मिश्र भी बड़ी संख्या में आने पर संक्रमण का खतरा फैलने की आशंका जता चुके हैं।

हैदराबाद में फंसे रीवा, सीधी के 100 श्रमिकों को ट्रक में भरकर पहुंचे। चालक ने रीवा से पहले बेला में श्रमिकों को उतार दिया। श्रमिक भडक़ गए बोले-2500-2500 रुपए लेकर रीवा तक पहुंचाने के लिए बोला है। श्रमिकों का तेवर देख ट्रक चालक चोरहटा तक छोड़ा। इधर, मंगलवार को भी प्रदेश के बाहर से 1200 से अधिक श्रमिक आए। स्वास्थ्य परीक्षण कर बसों से घर भेज दिया गया।

हुजूर एसडीएम फरहीन खान ने बताया कि मंगलवार को 1200 श्रमिक आए। जिसमें जिले व आस-पास जिले के भी श्रमिक थे। सभी को 30 बसों से रवाना किया गया। इसके अलावा स्वयं श्रमिक बाहर से ट्रक व अन्य साधनों से पहुंच रहे हैं। उदाहरण ट्रक में 100 श्रमिकों को भकर हैदराबाद से रीवा लाया गया है। इस तरह से जिले में लॉकडाउन से लेकर अब तक आंकड़े पर नजर डाले तो पंचायतों में 50 हजार से अधिक लोग पहुंच चुके हैं।

मार्तण्ड स्कूल परिसर में बाहर से आने वाले श्रमिकों के साथ बच्चे व महिलाएं भी आ रहे हैं। नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला ने बच्चों को फल का वितरण किया गया। जांच के दौरान महिलाओं की लंबी कतार लगी। बताया गया कि बाहर से आने वाले महिलाएं यात्रा के दौरान परेशान रहीं। कई किमी पैदल चलना पड़ा।

Powered by Blogger.