JABALPUR : आज सरेंडर हो सकते हैं शराब दुकानों के लाइसेंस : अब खुद दुकानें चलाने की तैयारी में आबकारी विभाग


जबलपुर. जिले की शराब दुकानें ठेकेदार के नहीं चलाने की स्थिति में आबकारी विभाग ने इन्हें खुद ही संचालित करने की योजना बनाई है। इसके लिए शासन को पत्र लिखा गया है। इसमें जिले की सभी 143 देशी एवं विदेशी शराब दुकानों के लिए कर्मचारी मांगे गए हैं। इन्हें दुकानों में तैनात किया जाएगा। सभी दुकानों के लिए करीब 450 कर्मचारियों की जरूरत पडेग़ी। इस काम में होमगार्ड और एक अन्य विभाग के कर्मचारियों का सहयोग लेने की योजना है।
पहले भी जब ठेकेदार शराब दुकानों का संचालन नहीं करते थे, तब आबकारी विभाग इन्हें चलाता था। ठेकेदार सरकार की संशोधित आबकारी नीति पर आपत्ति कर रहे हैं। उनका कहना है कि सरकार कोरोना संक्रमण के समय शराब दुकानों को खोलने की अनुमति तो दे रही है, लेकिन उसके नियम ऐसे हैं, जिससे उन्हें नुकसान होगा। वे शासन को निश्चित राजस्व देने में भी सक्षम नहीं हैं। यह मामला हाईकोर्ट में भी चल रहा है। कोर्ट ने कहा है कि नई नीति से असंतुष्ट शराब ठेकेदार दुकानें सरेंडर करें।

MP में नहीं बैठ रहा मंत्रिमंडल विस्तार का समीकरण : खींचतान और दांवपेच में उलझी पार्टी

74 दुकानें खुली थीं ग्रामीण क्षेत्र में
लॉकडाउन के दौरान जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 74 देशी एवं विदेशी शराब की दुकानें खुली थीं। बाद में इन्हें बंद कर दिया गया। अभी तक इन्हें खोला नहीं गया। शराब ठेकेदार दुकान ज्यादा समय तक खोलने के अलावा लाइसेंस फीस में कटौती जैसी मांगे कर रहे हैं। वे इस विषय को कोर्ट भी लेकर गए हैं, जहां सुनवाई चल रही है।
आज सरेंडर हो सकते हैं लाइसेंस
इस बीच सोमवार को जिले की शराब दुकानों के सभी लाइसेंस सरेंडर किए जा सकते हैं। अभी की स्थिति में जिले में 92 देशी एवं 51 विदेशी शराब की दुकानें हैं। चालू वित्तीय वर्ष के लिए करीब 600 करोड़ रुपए का शराब ठेका हुआ था। लेकिन, मार्च से ही कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लग गया था। इससे दुकानें बंद कर दी गई थीं।

REWA NEWS MEDIA पढ़े ताजा ख़बरें, अभी Like करें और हमसे जुड़ें
रीवा, सिरमौर ,सेमरिया ,मनगवा, देवतलाब, मऊगंज ,गुढ व त्यौथर क्षेत्र की हर खबर सिर्फ  रीवा न्यूज़ मीडिया पर : VISIT NOW : www.Rewanewsmedia.com

Powered by Blogger.