Vaccine : देश में बन रही कोरोना की तीन वैक्सीन, हरी झंडी मिलते ही शुरू होगा उत्पादन

देश अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर तिरंगा फहराया और देश के नाम संबोधन दिया। इस दौरान पीएम मोदी ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का ऐलान भी किया। साथ ही बताया कि देश में कोरोना की तीन वैक्सीन पर ट्रायल हो रहा है। पीएम मोदी ने देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाइयां देते हुए कहा, कोरोना के इस असाधारण समय में, सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेको लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं। अगले वर्ष हम अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश कर जाएंगे। एक बहुत बड़ा पर्व हमारे सामने है। बता दें, पीएम मोदी सातवीं बार लाल किले से तिरंगा फहराया है। ऐसा करते ही उन्होंने एक नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। यह रिकॉर्ड है देश के पहले गैरकांग्रेसी प्रधानमंत्री द्वारा सबसे ज्यादा बार लाल किले पर तिरंगा फहराने का।
पीएम ने कहा, आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन्स इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं। जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर Production की भी तैयारी है।
पीएम मोदी ने बताया, देश में कोरोना महामारी की तीन वैक्सीन पर काम चल रही है। उम्मीद है जल्द ही इनके जरिए इलाज की अनुमति मिल जाएगी। हर भारतीय तक दवा पहुंचाने की तैयारी पूरी की जा चुकी है।
पीएम मोदी ने कहा, मेरे प्यारे देशवासियों, आत्मनिर्भर भारत की एक अहम प्राथमिकता है - आत्मनिर्भर कृषि और आत्मनिर्भर किसान। विकास के मामले में देश के कई क्षेत्र भी पीछे रह गए हैं। ऐसे 110 से ज्यादा आकांक्षी जिलों को चुनकर, वहां पर विशेष प्रयास किए जा रहे हैं ताकि वहां के लोगों को बेहतर शिक्षा मिले, बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें, रोजगार के बेहतर अवसर मिलें।
आखिर कब तक हमारे ही देश से गया कच्चा माल, finished product बनकर भारत में लौटता रहेगा: एक समय था, जब हमारी कृषि व्यवस्था बहुत पिछड़ी हुई थी। तब सबसे बड़ी चिंता थी कि देशवासियों का पेट कैसे भरे। आज जब हम सिर्फ भारत ही नहीं, दुनिया के कई देशों का पेट भर सकते हैं।
विस्तारवाद की सोच ने सिर्फ कुछ देशों को गुलाम बनाकर ही नहीं छोड़ा, बात वही पर खत्म नहीं हुई। भीषण युद्धों और भयानकता के बीच भी भारत ने आजादी की जंग में कमी और नमी नहीं आने दी।
आजादी का पर्व हमारे लिए आजादी के वीरों को याद करके नए संकल्पों की ऊर्जा का एक अवसर होता है। ये हमारे लिए नई उमंग, उत्साह और प्रेरणा लेकर आता है।
पीएम मोदी ने कहा, गुलामी का कोई कालखंड ऐसा नहीं था जब हिंदुस्तान में किसी कोने में आजादी के लिए प्रयास नहीं हुआ हो, प्राण-अर्पण नहीं हुआ हो। आज जो हम स्वतंत्र भारत में सांस ले रहे हैं, उसके पीछे मां भारती के लाखों बेटे-बेटियों का त्याग, बलिदान और मां भारती को आजाद कराने के लिए समर्पण है। आज ऐसे सभी स्वतंत्रता सेनानियों को, वीर शहीदों को नमन करने का ये पर्व है।
पीएम मोदी ने लगातार सातवीं बार तिरंगा फहराया। अब राष्ट्र के नाम संबोधन कर रहे हैं।
पीएम मोदी लाल किले पहुंच चुके हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उनका स्वागत किया। पीएम मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया है। थोड़ी देर में ध्वजारोहण होगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह 7.13 बजे राजघाट पहुंचकर महात्मा गांधी की समधी पर नमन किया और श्रद्धा सुमन अर्पित किए।
राजघाट के लिए रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट किया, स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं। जय हिंद!
लालकिले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस समारोह में शनिवार (15 अगस्त) को झंडा फहराने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सहयोग एक महिला सैन्य अधिकारी करेंगी। फ्लैग ऑफिसर मेजर श्वेता पांडे भारतीय सेना के 505 बेस वर्कशॉप से एक ईमई (इ्लेक्ट्रॉनिक व मैकेनिकल इंजीनियर) अधिकारी हैं। पहले भी कई महिला अधिकारियों ने इस भूमिका को निभाया है और गणतंत्र दिवस परेड के दौरान सैन्य टुकड़ी का नेतृत्व किया है।


Powered by Blogger.