MP के रीवा जिले में स्कूल लिपिक के पास मिली छह करोड़ की संपत्ति : शिक्षा विभाग में खलबली : जांच जारी

Telegram

ऋतुराज द्विवेदी,रीवा। जिले के शाहपुर थाना के गनिगवा गांव निवासी सहायक ग्रेड 3 लिपिक छह करोड़ का असामी निकला है। ईओडब्ल्यू भोपाल से मिली शिकायत के आधार पर शुक्रवार अलसुबह ईओडब्ल्यू रीवा टीम ने लिपिक महेंद्र प्रताप सिंह के घर पर दबिश दी।

आय से अधिक संपत्ति, शिक्षक के यहां EOW का छापा

टीम को करीब छह करोड़ की संपत्ति होने के दस्तावेज हाथ लगे हैं। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पहाड़ी में पदस्थ सहायक ग्रेड-3 के लिपिक महेंद्र प्रताप सिंह की शिकायत दो दर्जन से अधिक शिक्षकों ने शपथ पत्र के साथ ईओडब्ल्यू की मुख्य शाखा भोपाल में की थी।

15 हजार की रिश्वत लेते प्रधान आरक्षक को लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों दबोचा

संपति पर एक नजर

-फार्च्यून एक, बोलेरो दो, जेसीबी दो, ट्रैक्टर तीन, बाइक एक, कुल कीमत तकरीबन दो करोड़ रुपये

-खेती योग्य जमीन 22 अलग-अलग स्थानों पर 24 एकड़ कुल कीमत 56 लाख रुपये।

-इंदौर में मकान की कीमत 35 लाख रुपये।

-30 हजार वर्गफुट में स्कूल भवन कीमत 65 लाख रुपये

-गनिगवा में आलीशान मकान, कीमत 60 लाख रुपये

12 पासबुक मिलीं, खातों की होगी जांच

ईओडब्ल्यू टीम के प्रभारी प्रवीण चतुर्वेदी ने बताया कि लिपिक के घर से अलग-अलग नामों की कुल 12 पासबुक मिली हैं। हालांकि इसमें जमा राशि अंकित नहीं है। यह पासबुक हनुमना, रीवा व मनगवां सहित अन्य बैंकों के हैं। सोमवार को बैंक से ट्रैस कराया जाएगा। इसके बाद ही बैंक में जमा राशि का अंदाजा लग सकेगा।

रीवा के इस युवा IAS के दिल-दिमाग में समाज सेवा का जुनून : इस IAS की साफगोई से मातहतों में खलबली

इनका कहना है

महेंद्र प्रताप सिंह के यहां दी गई दबिश में अब तक तकरीबन छह करोड़ के आसपास की चल और अचल संपत्ति मिलने के दस्तावेज मिले हैं। बैंक पासबुक की राशि व बीमा पॉलिसी का पता लगाया जा रहा है। साथ ही हम विभाग से अभी पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं कि अपनी नौकरी में लिपिक को कुल कितना वेतन मिला है।

वीरेंद्र जैन, एसपी ईओडब्ल्यू रीवा



REWA NEWS MEDIA पढ़े ताजा ख़बरें, अभी Like करें और हमसे जुड़ें
Powered by Blogger.