MP LIVE : बड़ी लापरवाही : नर्स ने पहले बेटा सौंपा, 20 मिनट बाद कहा बेटी पैदा हुई है


भोपाल। जेपी अस्पताल में लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। यहां प्रसूति ओटी में तैनात नर्स ने प्रसूता पिंकी पटेल के परिजन को बेटा लाकर दिया। परिजन ने नवजात को नए कपड़े पहनाए। अपने रिश्तेदारों को सूचना दी। फोटो खींचे। 20 मिनट बाद उसी नर्स ने कहा गलती से प्राची नामक दूसरी प्रसूता का नवजात आप लोगों को दे दिया था। पिंकी को बेटी पैदा हुई है। यह सुनते ही पिंकी के परिजन के होश उड़ गए। उन्होंने बच्चा बदलने का नर्स व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों पर आरोप लगाया। हबीबगंज पुलिस में शिकायत की। उधर, अस्पताल प्रबंधन ने तीन डॉक्टरों की कमेटी से जांच कराने के बाद कहा है कि नर्स से भूल हुई थी। उसने एक प्रसूता का बच्चा दूसरे के परिजन को सौंप दिया। हालांकि, पिंकी के परिजन पुलिस से डीएनए जांच कराने की मांग कर रहे हैं।

NCRB REPORT : दलित बच्चियों से दुष्कर्म के मामले में मध्य प्रदेश देश में पहले स्थान 

दोनों प्रसूताएं भोपाल की हैं। पिंकी के पिता केएस चंदवंशी ने बताया कि उन्होंने मंगलवार को प्रसव के लिए बेटी को जेपी अस्पताल में भर्ती कराया था। गुरुवार सुबह सीजर करने के लिए ऑपरेशन थियेटर में लेकर गए थे। सुरेखा विल्सन नामक नर्स ने गुरुवार सुबह 10:45 बजे बेटा सौंपा। 11:05 बजे उन्होंने कहा कि बेटी पैदा हुई थी। गलती से दूसरा बच्चा दे दिया था। इसके बाद हमने बच्चे को नर्स के हवाले कर दिया। उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रबंधन की यह बड़ी लापरवाही है। डीएनए जांच कराई जानी चाहिए। इस संबंध में अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि नर्स की भूल से यह घटना हुई थी। अब ऐसी व्यवस्था करेंगे दोबारा इस तरह की नौबत न आए।

पत्नियों की इच्छा पहले कॅरियर फिर संतान, पतियों को नहीं आ रहा रास

यह हुई लापरवाही

प्रसूता के पहचान के लिए उसके नाम का टैग नहीं लगाया गया।

नर्स ने डॉक्टर से पूछे बिना नवजात को परिजन को सौंप दिया।

जांच में यह आया सामने

सिविल सर्जन डॉ. राकेश श्रीवास्तव ने डॉ. आभा जेसानी, डॉ. प्रीति देवपुजारी व एक नर्स को मिलाकर जांच कमेटी बनाई थी। जांच में सामने आया है कि पिंकी को ऑपरेशन के लिए पहले लेकर गए थे, लेकिन ऑपरेशन पहले प्राची का हुआ। नर्स को लगा पिंकी पहले गई थी इसलिए पहले उसका ऑपरेशन हुआ होगा। नर्स की लापरवाही मानते हुए उसे नवजात शिशु गहन चिकित्सा ईकाई से हटाकर कोविड वार्ड में पदस्थ किया गया है।

Powered by Blogger.