REWA : FLY OVER के नीचे सड़क में लगी दुकानें नहीं हटी तो ठेकेदार पर पुलिस करेगी कार्यवाही

रीवा । शहर के मुख्य चौराहा सिरमौर चौक पर फ्लाई ओवर के नीचे फुटपाथीयों की दुकानें बढ़ती ही जा रही है। इसके लिए यहां के ठेकेदार जिम्मेदार है। शहर के मुख्य चौराहा होने के साथ ही मुख्य मार्ग में ही इस तरह की अव्यवस्था बनी हुई है। जंहा फुटपाथी व्यापारियों के साथ ही ठेला व्यापारियों का भी कब्जा देखा जा रहा है।

फिर शर्मसार हुआ रीवा : दुष्कर्म की शिकार किशोरी ने खुद को लगाई आग : हालत गंभीर

पार्किंग के लिए सुरक्षित है स्थानः बताया जा रहा है कि फ्लाई ओवर का निर्माण किए जाने के साथ ही सिरमौर चौराहे की सड़क का चौड़ीकरण भी किया गया था। तो वहीं फ्लाई ओवर के नीचे स्थान को कंक्रीटीकरण करके वाहन पार्किंग के लिए स्थान निर्धारित किया गया था। इस व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने नगर पालिक निगम प्रशासन ने फ्लाई ओवर के नीचे के स्थल को ठेके पर दे रखा है। जिससे खड़े होने वाले वाहन सुरक्षित रह सके तो वहीं सड़क साफ-सुथरी और सुव्यवस्थित रह सके। लेकिन ठेकेदार कमाई करने के लिए उक्त स्थान को अब फुटपाथी व्यापारियों के हवाले कर दिया है। दिलचस्प पहलू यह है कि सड़क से लेकर डिवाइडर तक फुटपाथी व्यापारियों का कब्जा है।

कोरोना बुलेटिंग रिपोर्ट को लेकर प्रशासन की बड़ी लापरवाही : CMHO ने कहा सुधार कराएंगे 

इस तरह की आती है समस्या

फुटपाथ और डिवाइडर पर दुकान लगने से उक्त स्थान अतिक्रमण की चपेट में है। कारण यह कि सड़क का एक हिस्सा ठेला-गुमटी व्यापारी कब्जा किए हुए हैं तो वहीं शेष बचा स्थान उनके ग्राहकों के हवाले हो जाता है। इतना ही नहीं कई ग्राहक अपने वाहन भी खड़ा सड़क पर कर देते हैं। जिससे शहर के मुख्य मार्ग का आवागमन प्रभावित हो जाता है। इस समस्या से निपटने के लिए अब पुलिस प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। बहरहाल पुलिस की यह कार्रवाई और निर्देश कितना अमल पर आ पाती है और व्यवस्थाएं कितनी बेहतर होगी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

वर्जन

सिरमौर चौराहे की ट्राफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। जिससे आवागमन सुचारू रूप से संचालित हो सके।

राकेश कुमार सिंह, एसपी।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.