MP : महिलाओं की बेइज्जती करने में नहीं झिझकते कमलनाथ, विकास को रोककर की प्रदेश से गद्दारी, तो शिवराज ने किया विकास : सिंधिया

ग्वालियर । उद्योगपति कमलनाथ अहंकारी नेता हैं, वह महिलाओं की बेइज्जती करने में नहीं झिझकते हैं, उनके द्वारा की गई टिप्पणी को राहुल गांधी भी गलत बता चुके हैं, लेकिन कमलनाथ राहुल गांधी की भी नहीं सुनते। जनता तीन नवंबर को मतदान के जरिए कमलनाथ को जवाब देकर उनके व कांग्रेस के लिए सभी दरवाजे बंद कर दे। यह बात पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मांझी समाज द्वारा आयोजित सम्मेलन में सभा को संबोधित करते हुए कही।

इन 5 राज्‍यों में 48 घंटों बाद होगी खतरनाक  बारिश की संभावना, IMD ने दी चेतावनी

सभा को संबोधित करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहाकि ऐसा कौन सा नेता होगा जिसकी पार्टी की सरकार 15 साल बाद बने, सरकार में उस नेता को कैबिनेट मंत्री का पद मिले, लेकिन क्षेत्र के विकास और सम्मान के लिए व मंत्री पद छोड़ दे, ऐसे नेता को ही कद्दावर नेता कहते हैं। उन्होंने कहाकि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह गद्दार हैं जिन्होंने अंचल व प्रदेश की जनता के साथ किए गए सभी वादों को तोड़ दिया। ग्वालियर अंचल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने और तेजी से विकास किया है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सर्वहारा वर्ग का ध्यान दे रहे हैं।

JOB गई तो स्कूटी पर शुरू किया फूड स्टॉल, दो महीने बाद बोले- अब नौकरी नहीं करूंगा 

वहीं दूसरी ओर कमलनाथ हैं जो महिला का अपमान करते हैं। उन्होंने कहाकि जिस स्थान पर महिलाओं का सम्मान होता है वहीं पर देवता भी निवास करते हैं। कमलनाथ ने इमरती देवी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग कर उनका घोर अपमान किया है। साथ ही अपनी गलती पर माफी तक नहीं मांगी। उन्होंने कहा कि यह प्रद्युम्न सिंह तोमर का नहीं बल्कि सिंधिया का चुनाव है।

झलकियां

मंच पर जमीन पर बैठे सिंधिया

सभा के लिए मंच पर पहुंचे राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया कुर्सियों को छोड़ कर जमीन पर कार्यकर्ताओं के बीच बैठ गए। यह देखकर सभी कार्यकर्ता और नेता भी उनके साथ जमीन पर ही बैठे।

केवल संवाद की बनी झांकी

मंच के आगे केवट संवाद की झांकी बनाई गई। इसमें नाव में केवट अपने साथ प्रभु श्रीराम, माता जानकी एवं लक्ष्मण जी को लेकर जा रहे हैं। नाव पर भाजपा का झंडा भी लगाया गया था।

सिंधिया ने तीर चलाकर साधा निशाना

कार्यक्रम के दौरान जयोतिरादित्य सिंधिया ने मंच से ही तीरकमान से तीर चलाया। यह देखकर वहां पर मौजूद जनता ने तालियां बजाईं।

बिना मास्क वालों को बांटे मास्क

सभा के दौरान कई महिलाएं बिना मास्क लगाए ही आई थीं। इन महिलाओं को भाजपा कार्यकर्ताओं ने मास्क का वितरण कर उन्हें मास्क लगाकर रहने की सलाह दी।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.