LIVE : उपचुनाव के नतीजे बताएंगे कितने 'पावरफुल' हैं शिवराज, सिंधिया और कमलनाथ, पढ़ें विश्लेषण


भोपाल. मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर मंगलवार को हुए उपचुनाव  के 10 नवंबर को आने वाले परिणाम न केवल प्रदेश की भाजपानीत सरकार के भाग्य का फैसला करेंगे, बल्कि प्रदेश के तीन क्षत्रपों- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के राजनीतिक भविष्य पर भी असर डालेंगे. इस साल मार्च में राज्य में सत्ता के लिए जो राजनीतिक उठापटक हुई थी, उसमें ये तीनों प्रभावशाली नेता शामिल थे.

 बीजेपी 19, कांग्रेस 8, BSP 1 को एक सीट पर बढ़त, राज्यवर्धन सिंह 5138 मतों से आगे

इस उठापटक में कमलनाथ के नेतृत्व वाली 15 महीने पुरानी कांग्रेसनीत सरकार गिराने में सिंधिया की अहम भूमिका रही है. सिंधिया के मार्च में कांग्रेस छोड़ भाजपा में आने के बाद उनके समर्थित कांग्रेस के 22 विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे. इससे कमलनाथ की तत्कालीन सरकार अल्पमत में आ गई थी. जिसके कारण कमलनाथ ने 20 मार्च को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और इसके बाद चौहान के नेतृत्व में 23 मार्च को फिर से भाजपा की सरकार बनी. आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में मंगलवार को 69.93 प्रतिशत मतदान हुआ और इन मतों की गणना 10 नवंबर को होगी.

Powered by Blogger.