REWA : पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने ग्रामवासियों को दिया बड़ा तोहफा : 292 परिवारों को मिली बड़ी राहत


पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने जल जीवन मिशन अन्तर्गत एट्रोफिटिंग योजना के तहत 33.79 लाख रूपये की लागत से बनायी जाने वाली नल-जल योजना का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर अपने उद्बोधन में उन्होंने कहा कि उमरी गांव के प्रत्येक घर में नल के माध्यम से पानी मिलेगा। रीवा जिले का यह उमरी गांव जल जीवन मिशन के तहत चयनित पहला गांव है जहां इस योजना का भूमिपूजन हो रहा है। आगामी तीन माह में इस गांव के 292 परिवारों को उनके घर में नल से पानी मिलने लगेगा।


श्री शुक्ल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुसार हर गरीब के लिये जिस प्रकार पक्के आवास की व्यवस्था की जा रही है उसी की तरह गांवों के घरों में भी नल के माध्यम से स्वच्छ पानी पहुंचाने का लक्ष्य नियत किया गया है। रीवा जिले का कोई भी गांव छूटेगा नहीं। आने वाले समय में सभी को उनके घर में साफ पानी मिलेगा। उन्होंने अपेक्षा की कि गांवों में स्वसहायता समूहों की महिलाएं समिति बनाकर जल प्रदाय योजना के संचालन की जिम्मेदारी लें तथा उसे अच्छे ढंग से संचालित करें। श्री शुक्ल ने कहा कि उमरी से लगे अगडाल गांव में भी शीघ्र ही 84 लाख रूपये की लागत से 5.5 किलोमीटर पाइपलाइन डालकर घर-घर में पानी पहुंचाने का इंतजाम किया जा रहा है। उन्होंने दुबहाई से अगडाल पहुंचमार्ग के किनारे नाली निर्माण कराये जाने की ग्राम वासियों की मांग पर शीघ्र कार्य कराने के लिए आश्वस्त किया। श्री शुक्ल ने गांव में पात्रता पर्ची से छूटे हुए हितग्राहियों की पर्ची बनाने तथा किसान सम्मान निधि के पात्र किसानों को लाभ दिलाने के लिये राजस्व अधिकारियों को गांव में पहुंचकर परीक्षण करने के निर्देश दिये।


इस अवसर पर कलेक्टर इलैयाराजा टी ने कहा कि शासन की मंशानुसार 2024 तक प्रत्येक घर में नल कनेक्शन के माध्यम से पानी पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को पूर्ण गुणवत्ता के साथ निश्चित समय-सीमा में कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि उमरी गांव में पंचायतराज के तहत जो कार्य अधूरे हैं उन्हें शीघ्र पूरा कराया जायेगा। उन्होंने अपेक्षा की कि नल-जल योजना के संचालन का दायित्व गांव की स्वस्हायता समूह की महिलायें सक्रिय होकर करें। गांव के लोग ही समिति में शामिल होने वाले सदस्यों का चयन करें ताकि जागरूक समिति बने तथा इसका संचालन बेहतर ढंग से हो सके। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री शरद सिंह ने बताया कि उमरी गांव में 4400 मीटर पाइप लाइन डालकर घर-घर में पानी पहुंचाने की व्यवस्था की जायेगी जिससे 292 परिवार लाभान्वित होंगे। कार्यक्रम में प्रेमप्रकाश पाण्डेय, इन्द्रमणि तिवारी, महेन्द्र तिवारी सहित गांववासी व पीएचई के अधिकारी उपस्थित रहे।
Powered by Blogger.