CRIME : पचास हजार का इनामी साइको किलर लोडेड हथियार रखने वाला दिलीप का पुलिस ने किया एनकाउंटर

रतलाम। साइको किलर दिलीप देवल की पुलिस मुठभेड़ में मौत की खबर शहर में गुरुवार रात तेजी से फैली। छह हत्याओं के आरोपित दिलीप की तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही थी। वह शातिर किस्म का बदमाश था, और हमेशा अपने पास लोडेड हथियार रखता था। खास बात यह है कि सोलंकी परिवार की तरह और परिवार भी उसने चिन्हित कर रखे थे, जहां घरों में ज्यादा समय तक महिलाएं ही रहती थी। लूट के लिए वह इन परिवारों को भी निशाना बना सकता था।

कोरोना अलर्ट : शादी समारोह में अपनत्व प्रदर्शित न करें; लोग दूल्हा-दुल्हन को छूने से बचें, ऑनलाइन भेजे गिफ्ट और शगुन

मुठभेड़ के दौरान ही अन्य पुलिस अधिकारियों को भी एसआइटी सदस्यों ने सूचना दी। डीआइजी सुशांत सक्सेना, एएसपी शहर इंद्रजीत बाकरवाल, एएसपी ग्रामीण सुनील पाटीदार, सीएसपी हेमंत चौहान आदि मौके पर पहुंचे। इसके बाद दिलीप का शव जिला अस्पताल पहुंचाया गया। घटनास्थल के आसपास पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस ने रात में मौके पर घटना के दौरान चलाई गई गोलियों के खाली खोखे सहित अन्य हथियार खोजे। शुक्रवार सुबह फिर से जांच होगी। दिलीप द्वारा मुठभेड़ में प्रयुक्त हथियार भी बरामद किया गया है।

जिला अस्पताल में पांचों घायल भर्ती

मुठभेड़ में घायल दोनों एसआइ व तीन आरक्षकों को जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती किया गया है। वहीं दिलीप का शव पोस्टमार्टम रूम में रखवाया गया है। शुक्रवार सुबह पोस्टमार्टम कराया जाएगा। मुठभेड़ की जानकारी मिलने पर कई लोग जिला अस्पताल भी पहुंच गए।

बाइक चोरी में 18 दिन पहले पकड़ाए थे दो आरोपित

पुलिस ने प्रेमकुंवर सिसौदिया व गोविंद सोलंकी परिवार के तीन लोगों की हत्या के मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। तिहरे हत्याकांड में दिलीप के साथी आरोपित अनुराग उर्फ बॉबी पुत्र प्रवीणसिंह परमार निवासी विनोबा नगर रतलाम, गोलू उर्फ गौरव पुत्र राजेश बिलवाल निवासी रेलवे कॉलोनी रोड़ नम्बर-7 रतलाम, लाला भाभोर उर्फ मनु भाभोर निवासी ग्राम अभलोड लिम्बू फलिया थाना जेसवाड़ा जिला दाहोद और प्रेमकुंवर की हत्या के मामले में दिलीप देवल के साथी सुनीत उर्फ सुमित पुत्र जितेंद्रसिंह चौहान निवासी मैन रोड गांधीनगर व हिम्मतसिंह पुत्र रूपसिंह देवल निवासी खरेड़ी डूंगरी फलिया जिला दाहोद हालमुकाम देवरादेव नारायणनगर को गिरफ्तार किया जा चुका है। पांचों आरोपित 10 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर हैं। आरोपित अनुराग व हिम्मतसिंह बाइक चोरी के मामले में 18 दिन पहले गिरफ्तार हो चुके हैं।

स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, तीन युवतियों और दो युवक मिले संदिग्ध अवस्था में

जिला अस्पताल परिसर के पार्किंग स्थल के पास से 1 नवंबर 2020 को हुमला पुत्र परथा निनामा निवासी ग्राम ताजपुरिया की बाइक (एमपी-43/डीडब्ल्यू-1125) कोई चुराकर ले गया था। स्टेशन रोड पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच की तो पता चला कि बाइक आरोपित हिम्मतसिंह ने अपने अन्य साथियों यश राठौर व अनुराग के साथ मिलकर चुराई थी। उक्त बाइक बेचने के लिए अन्य साथी विराट कैथवास को दी थी। वह बाइक बेच पाता उसके पहले ही पुलिस ने चारों को 7 नवंबर को गिरफ्तार कर 8 नवंबर को न्यायालय में पेश किया था। न्यायालय ने चारों को एक दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा था। रिमांड अवधि खत्म होने पर 9 नवंबर को उन्हें पुन: न्यायालय में पेश किया गया था, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया था। बाद में चारों को जमानत मिल गई थी।

7 दिसंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी कमिश्नर, पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षकों अपटेड लेंगे मुख्यमंत्री

फायर करने से नहीं डरता था

साइको किलर दिलीप अपने साथ लोडेड हथियार रखने के साथ ही फायर करने से नहीं डरता था। इस कारण उसे पकड़ने के लिए विशेष टीम का गठन किया गया था। उसके दो फर्जी आधार कार्ड में एक अनुपम शर्मा निवासी डूंगरी फलिया खरेड़ी जिला दाहोद (गुजरात) व दूसरा हिमांशु सोलंकी निवासी सेवानिवृत्त कॉलोनी गांधीनगर रतलाम के नाम से बना है। जबकि उसका सही नाम दिलीप देवल पुत्र भावसिंह देवल है। उसने फेसबुक पर फेक आइडी हिमांशु सोलंकी व अनुपम शर्मा के नाम से बनाई थी। उसके पास कई फर्जी मोबाइल सिम भी थी। दाहोद में 2017 में उसके खिलाफ दो लोगों की हत्या के अलग-अलग प्रकरण दर्ज हुए थे। एक मामले में आजीवन कारावास की सजा हुई थी, लेकिन पैरोल पर जेल से बाहर आने के बाद वह वह भागकर 2019 में रतलाम आ गया था। तभी से वह रतलाम में किराये के मकानों में रह रहा था।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.