MP : इंदौर के बॉम्बे हॉस्पिटल में नर्सिंग की छात्राओं ने भी लगवाए टीके : वैक्सीन लगवाने के बाद खींचती रही सेल्फी

इंदौर। शहर के बॉम्बे हॉस्पिटल में बनाए गए टीकाकरण केंद्र का नजारा शनिवार सुबह बदला-बदला सा था। केंद्र की ओर जाने वाले रास्ते को फूलों से सजाया गया था। टीकाकरण केंद्र के भीतर रंगबिरंगे गुब्बारों दीवारों पर लगे थे।ऐसा लग रहा था मानो किसी का जन्मदिन मन रहा हो। कोरोना का टीका लगवाने आए लोगों में उत्साह था। अस्पताल में नर्सिंग की छात्राओं ने भी टीके लगवाए और बाद में एक-दूसरे के साथ सेल्फी ली। ये फोटो वे मित्रों और रिश्तेदारों को भेज रही थीं।

कल PM मोदी केवड़िया से रीवा के लिए वर्चुअली हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को करेंगे रवाना

इस केंद्र पर 100 लोगों को डोज लगना था और दोपहर 2 बजे तक 60 लोग टीका लगवा चुके थे। शाम 4.30 बजे तक टीका लगवा चुके लोगों का आंकड़ा 80 लोगों तक पहुंच चुका था। स्वास्थ्य विभाग ने वहां व्यवस्थित रूप से टीकाकरण के लिए करीब 12 कर्मी तैनात किए थे। शुरुआत में लिंक फेल होने के बाद थोड़ी देर परेशानी आई, लेकिन बाद में मेनुअली काम होता रहा।

नाबालिग के साथ आपत्तिजनक हालत में मिला युवक, हिंदू जागरण मंच ने की लव जिहाद कानून के तहत मामला दर्ज करने की मांग

टीकाकरण अधिकारी प्रदीप उपाध्याय ने बताया कि दिनभर में कोई समस्या नहीं आई। एक वैक्सीन में 10 लोगों के डोज रहते हैं। जब तक टीका लगवाने के लिए 10 लोग नहीं हो जाते, तब तक जरूर कुछ लोगों को इंतजार करना पड़ा। हालांकि, फिर भी कहीं ज्यादा परेशानी नहीं हुई। बमुश्किल आधा मिनट में एक व्यक्ति को टीका लग गया। वक्त मिलने पर टीकाकरण में लगे कर्मियों को भी लंच भी कराया गया। टीका लगवाने वाले अस्पताल के हाउसकीपिंग इंचार्ज परमानंद ईवने और सुपरवाइजर पंकज वर्मा ने बताया कि टीका लगने के बाद कोई तकलीफ नहीं हुई और वे सामान्य महसूस कर रहे हैं। बॉम्बे हॉस्पिटल के मार्केटिंग हेड फिरोज कुरैशी भी सुबह से पूरे समय मौजूद रहे।

क्राइम ब्रांच की साइबर सेल ने 130 गुम मोबाइल ढूंढ निकाले : दूसरे राज्यों में चलते मिले मोबाइल

Powered by Blogger.