CRIME : बेडरूम में खून से लथपथ मिली पत्नी की लाश, पुलिस ने पूछा तो पागलों की एक्टिंग करने लगा पति : फिर ...


राजनांदगांव/डोगरगांव. नववर्ष की पहली सुबह जिले के डोंगरगढ़थाना क्षेत्र के समीपस्थ रूदगांव में 48 वर्षीय महिला की हत्या किए जाने की घटना सामने आई। इस मामले में डोंगरगांव पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद से संदेह के आधार पर महिला के पति को ही गिरफ्तार किया है। फिलहाल पूछताछ जारी है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार घटना 31 दिसंबर रात 8 बजे से 1 जनवरी सुबह 5 के मध्य की है। 48 वर्षीय पोमीन पति वीरेन्द्र कुमार देवांगन का शव बेडरूम में खून से लथपथ मिला था। उसके सिर पर धारदार हथियार से हमले का निशान मिला है।


नहीं हुआ हत्या के कारणों का खुलासा 
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक जांच टीम ने घटना के सभी पहलुओं को जांच परखकर मृतिका के हत्या के मामले में उसके पति वीरेन्द्र कुमार को बतौर संदेही गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी अनुसार मृतका व उसके पति घर पर अकेले ही रहते थे। उनकी दो पुत्रियां विवाह उपरांत अपने ससुराल में थीं। घटना के दौरान घर पर दोनों पति-पत्नी अकेले ही थे। वहीं हत्या के कारणों का खुलासा जल्द ही होने की बात डोंगरगांव पुलिस ने की है।


डॉग की मदद से कमरे से बरामद हुआ वरदात में प्रयुक्त हथियार 
रूदगांव में हुए इस हत्याकांड के संदेही को पकडऩे में 'दुलारीं की भूमिका अहम रही। दुलार कोई व्यक्ति नहीं पुलिस के डॉग स्क्वायड में नवपदस्थ डॉग है। घटना की सूचना के तत्काल बाद ही डोंगरगांव पुलिस ने डॉग स्कवाड व फारेंसिंग टीम को मौके पर बुलाया था। डॉग दुलार के हेण्डलर अजय वर्मा व सहायक अमरेन्द्र यादव डॉग को घटना स्थल कमरे की भीतर ले गए जहां हत्या में प्रत्युक्त किए गए संभावित औजार व अन्य वस्तु मिला। इस बीच आरोपी पति बेहोशी का नाटक करने लगा। शैतानी शक्ति के वश में आकर अपराध करना भी स्वीकार किया। घनश्याम कामड़े, एसडीओपी अंबागढ़ चौकी ने बताया कि मृतिका के पति को संदेह के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में डोंगरगांव पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।
Powered by Blogger.