बेसहारा हुए माँ- बाप : बजरंग दल के कार्यकर्ता ने जिसकी पत्नी को खून देकर बचाया उन्हीं लोगों ने कर दी हत्या


पश्चिमी दिल्ली के मंगोपुर इलाके में बजरंग दल कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस की जांच में पता चला है कि रिंकू ने आरोपित की पत्नी की खून देकर जान बचाई थी। लेकिन उन्हीं लोगों ने उसे मार डाला। दरअसल मर्डर में शामिल एक आरोपी इस्लाम की पत्नी डेढ़ साल पहले गर्भवती थी। तब उसकी हालत काफी नाजुक हो गई थी। 

राजधानी दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में देर रात महसूस किए गए भूकंप के झटके : भूकंप के बाद दहशत में लोग

उसे इलाज के लिए खून की चढ़ाने की जरूरत पड़ गई थी। तब रिंकू शर्मा ने दो बार रक्त दान कर इस्लाम की पत्नी को नया जीवन दिया। यहां तक शर्मा ने आरोपी के भाई शकुरू को कोरोना संक्रमित होने पर मदद की थी। उसके अस्पताल में भर्ती कराया था। लेकिन उसे अंदाजा नहीं था जिनकी वह जान बचा रहा है। वह एक दिन उसके प्राण ले लेंगे। इस घटना के बाद आसपास के लोगों में भारी रोष है। 

यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी : 1 APRIL से पटरी पर दौड़ेंगी सभी ट्रेनें

रिंकू के पड़ोसी ने बताया कि उसकी किसी के साथ दुश्मनी नहीं थी। वह एक अच्छा लडका था।स्थानीय रहवासियों ने बताया कि रिंकू की मां राधा शर्मा व पिता अजय शर्मा नौकरी छोड़ चुके हैं। घर की सारी जिम्मेदारी रिंकू के ऊपर थी। अब परिवार ने अपने बेटे को खो दिया, साथ ही आर्थिक संकट का भी सामना करना पड़ेगा।

Powered by Blogger.