SIDHI : सर्किट हाउस में मच्छरों के कारण सो नहीं पाए CM श‍िवराज, व्यवस्थाओं की खुल गयी पोल

सीधी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को सर्किट हाउस के कमरा नंबर-एक में रुके थे। उनका रात्रि विश्राम का कार्यक्रम अचानक बना जिससे यहां की व्यवस्थाओं की पोल खुल गई। रात में मुख्यमंत्री के कमरे में मच्छर प्रवेश कर गए, जिससे वे रातभर सो नहीं पाए। मुख्यमंत्री ने सुबह कमिश्नर को बुलाकर नाराजगी जताई।

दर्दनाक बस हादसे बाद जागी सरकार : आज से पूरे प्रदेश में यात्री वाहनों के लिए विशेष जांच अभियान, परिवहन मंत्री बोले- रसूखदार को भी नहीं छोड़ा जाएगा

बताया जाता है कि उनसे मिलने आए नेताओं-कार्यकर्ताओं के कारण कमरा खुला रहा जिससे मच्छर भर गए। वहीं रात में करीब एक घंटे तक सर्किट हाउस की टंकियों में पानी भरने मोटर पंप चालू किया गया था, जिसे बंद नहीं किया गया। रात में लगभग साढ़े 10 से साढ़े 11 बजे तक टंकी से ओवरफ्लो होकर पानी नीचे गिरता रहा।

सीधी बस हादसे के बाद जागा प्रशासन, छुहिया घाटी में पेंच वर्क का काम शुरू

सूचना मिलने पर पीडब्ल्यूडी के अध‍िकारी ने मोटर बंद कराई। तड़के यहां लगीं चार टंकियों में पानी खत्म होने के बाद फिर बोर चालू किया गया। सुबह मुख्यमंत्री ने रीवा संभाग के कमिश्नर राकेश कुमार जैन को तलब किया और सर्किट हाउस की अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जताई।

सीधी बस हादसा : पीडि़त परिवार ने सीएम से कहा, अगर छुहिया घाटी की सड़क खराब न होती तो ये बड़ा हादसा न होता

कमिश्नर ने लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री डीके सिंह का फटकार लगाई। बाद में कमिश्नर ने कार्यपालन यंत्री को नोटिस जारी करने की बात कही है।

अचानक रुक गए मुख्यमंत्री सीधी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को रात तक पीड़ितों के स्वजनों से मिलते रहे। रामपुर नैकिन आने के बाद वे चुरहट गए और फिर सीधी पहुंचे। सीधी पहुंचने के बाद शाम हो गई और इसी दौरान अचानक रुकने की जानकारी प्रशासन को मिली। आनन-फानन में मुख्यमंत्री के रुकने की व्यवस्थाएं की गईं।

सीधी घटना के बाद एक्शन में आए CM शिवराज, देर रात बुलाई अधिकारियों की बैठक में GM, AGM समेत सीधी RTO को किया तत्काल निलंबित

मुख्यमंत्री ने रात करीब 10 बजे कलेक्टोरेट सभागार में अध‍िकारियों की बैठक ली। इसके बाद पत्रकारों से चर्चा की और विश्राम गृह पहुंच गए। यहां भी वे स्थानीय कार्यकर्ताओं व नेताओं से रात 12 बजे तक बात करते रहे।

कमरे में नहीं थी मच्छरदानी, सीएम बोले - व्यवस्थाएं करें दुरुस्त

सुबह मुख्यमंत्री ने कमिश्नर से कहा कि यहां की टंकी से पानी ओवरफ्लो होता है। इसी कारण यहां मच्छर ज्यादा हैं। उन्होंने सर्किट हाउस की व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के आदेश दिए। बताया गया कि जहां सीएम रुके थे, उस कमरे में मच्छरदानी भी नहीं थी। सुबह रैकेट बुलाकर मच्छर मरवाए गए।

सुबह 8 बजे फिर शुरु हुआ रेस्क्यू ऑपरेशन, 600 जवान तैनात : 2 और शव मिले, 5 अब भी लापता : 6 लोग दे चुके हैं मौत को मात

सर्किट हाउस के यह थे हाल - सर्किट हाउस में चार एनेक्सी रूम हैं, जिनमें पुलिस बल के करीब 50 जवान रुके थे। ऊपर चार वीआइपी रूम में मुख्यमंत्री के अलावा पांच लोग रुके हुए थे।

इनका कहना

सीधी के सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री रुके हुए थे। जहां रात में पानी की टंकी से पानी ओवरफ्लो होकर गिर रहा था और कमरे में मच्छर भी थे। इसके लिए लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को नोटिस दिया जाएगा।

राकेश कुमार जैन, कमिश्नर, रीवा संभाग 


लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए REWA NEWS MEDIA फेसबुक पेज लाइक करें

Powered by Blogger.