बढ़ते कोरोना को लेकर MP के यात्रियों के लिए सूचना, यह शर्त करेंगे पूरी तभी राजधानी दिल्ली में मिल पाएगी एंट्री

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल .महाराष्ट्र और केरल सहित देश के कुछ अन्य राज्यों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं. इसके अलावा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पंजाब में भी कोरोना के मामलों में तेजी देखी जा रही है. पिछले 7 दिन में पूरे देश में जितने कोरोना सक्रमित मिले हैं उनमें 86 फीसदी इन्हीं राज्यों से हैं. इन राज्यों में कोरोना के नए स्ट्रेन की भी पुष्टि हुई है. इसको देखते हुए दिल्ली की अरविंदकेजरीवाल सरकार सतर्क हो गई है. क्योंकि दिल्ली देश की राजधानी है और यहां दूसरे राज्यों से लोगों का आना जाना लगा रहता है. केजरीवाल सरकार ने फैसला किया है कि महाराष्ट्र, केरल, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पंजाब से दिल्ली आने वालों के लिए कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी जरूरी होगी. 

LOCKDOWN और नाइट कर्फ्यू को लेकर CM शिवराज ने दिए ये निर्देश, कहा ...

नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट दिखाने पर ही उन्हें दिल्ली में एंट्री मिल सकेगी. जिनके पास रिपोर्ट नहीं हुई उनका कोरोना टेस्ट किया जाएगा. टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उन्हें 14 दिन क्वॉरंटीन रहना होगा.दिल्ली सरकार इन 5 राज्यों के नोडल ऑफिसर से यह सुनिश्चित करने के लिए कह रही है कि उनके यहां से दिल्ली आने वालों के पास 72 घंटे तक पुरानी कोरोना नेगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट हो. उसके बाद ही कोई दिल्ली के लिए यात्रा कर सकें. यह आदेश 26 फरवरी शुक्रवार की आधी रात से 15 मार्च दोपहर 12 बजे तक प्रभावी होगा. इन 5 राज्यों से फ्लाइट, ट्रेन और बस से दिल्ली आने वाले यात्रियों पर आदेश लागू होगा, अपनी निजी गाड़ी से दिल्ली आने वाले यात्री इस आदेश के दायरे में नहीं आएंगे.

लगाया जाएगा लॉकडाउन? कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर रात 8 बजे मुख्यमंत्री प्रदेशवासियों को करेंगे संबोधित

मध्य प्रदेश में RTPCR कराना अनिवार्य

मध्य प्रदेश सरकार भी कोरोना के बढ़ते मामलों और नए स्ट्रेन को लेकर सतर्क हो गई है. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन कराने के लिए फिर से कड़े कदम उठाए जाएंगे. महाराष्ट्र से सटे जिलों के कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं. भोपाल और इंदौर पूर्व में कोरोना प्रभावित शहर रहे हैं. ऐसे में इन दोनों शहरों में फेस मास्क अनिवार्य किया गया है. गृह मंत्री ने बताया कि महाराष्ट्र से सटे जिलों से राज्य के दूसरे हिस्से में जाने वालों के लिए आरटीपीसीआर (RTPCR) टेस्ट अनिवार्य होगा.

Powered by Blogger.