REWA : रीवा शहर के विद्या भूषण मेडिकल स्टोर में शहडोल पुलिस का छापा, संचालक समेत पूरे स्टाफ को पुलिस ने किया गिरफ्तार

ऋतुराज द्विवेदी,रीवा। रीवा शहर के विद्या भूषण मेडिकल स्टोर में शहडोल पुलिस का छापा, नशे का पूरा जखीरा बरामद किया है जहाँ  मेडिकल स्टोर संचालक सहित पूरे स्टाफ को पुलिस ने लिया हिरासत में लिया है, रीवा की अमहिया पुलिस के साथ शहडोल की कोतवाली पुलिस ने दी दबिश शहडोल में नशे की खेप के साथ पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर हुई कार्यवाही। 

गोलीकांड की घटना से फिर दहला रीवा, पुलिस का फ्लैग मार्च हुआ फेल, सफारी कार में सवार युवकों ने युवक को मारी गोली : शहर सहित जिले की घेराबंदी

विद्याभूषण मेडिकल स्टोर पर बड़ी छापेमार कार्यवाही से दहल गए मेडिकल तस्कर शहडोल जिले की सिटी कोतवाली पुलिस ने आज सुबह रीवा आकर अमहिया थाना पुलिस की मदद से थाना  क्षेत्र में स्थित विद्याभूषण मेडिकल स्टोर पर छापेमार कार्यवाही करके बड़ी मात्रा में नशेकी गोलियां बरामद की गई एवं मेडिकल स्टोर में मौजूद मलिक हरी सिंह एवं उनके स्टप को पुलिस हथकड़ी पहनाकर लेकर शहडोल रवाना हो गई।

नए बस स्टैंड में फिल्मी स्टाइल से हुई युवक की गोली मारकर हत्या, शहर में पसरा सन्नाटा : पुरे जिले हुई घेराबंदी

विगत दिनों पुर्व शहडोल जिले की पुलिस ने बड़ी मात्रा में मेडिकल नशे की गोलियां सहित तस्करो को गिरफ्तार किया था जिनसे पूछताछ में पता चला कि यह विद्याभूषण मेडिकल स्टोर रीवा से नशे कि सामग्री खरीदकर ले कर गए थे। जिनके निशानदेही पर पुलिस रीवा पहुंचकर एसपी राकेश सिंह को जानकारी देते हुए अमहिया थाना पुलिस की मदद से मेडिकल स्टोर पर दविश देकर मलिक सहित नशे कि सामग्री जप्त कर लिया .

शहर में पुलिस ने चलाया कमिंग गश्त अभियान ,नशेडिय़ों की महफिल में मची भगदड़ : दर्जनभर चौराहों में दबिश

इन दिनों रीवा पुलिस द्वारा जोरो से वाहनों की धरपकड़ के साथ नशेड़ियों के अड्डे व छोटे मोटे नशीली दवा के फुटकर मेडिकल स्टोर व चाय पान के गोमती और युवा नशेड़ियों के जेब से नशीली सिरप और कैप्सूल बरामद कर आये दिन धरपकड़ कर कार्यवाही कर रहीं है रीवा पुलिस पर वहीं अगर देखा जाए तो जो मुख्य बड़े तस्कर विक्रेता है इन दवाइयों के वहाँ पुलिस की नज़र भी नहीं जा रहीं ऐसा क्यों ..?

आइये जानते हैं पूरी बात जी हां तो हम कुछ ऐसे फुटकर एवं थोक नशीली दवाइयों के विक्रेता की बात कर रहे है जहां पर पुलिस उस दुकान को नजर अंदाज कर आगे बढ़ जाती है और युवाओं के जेब चाय ठेले व आम फुटकर विक्रेता को चौराहे, गली मोहल्ले आदि स्थान से पकड़ वाह वाही कमा रहीं पर जो जिले में इन नशीली दवाओं के बड़े विक्रेता हैं वहां पुलिस देख तक नहीं रहीं। 

ऐसे ही रीवा शहर की जानी मानी मेडिकल विद्या भूषण मेडिकल हॉल है जहाँ खुले आम नशीली दवाइयों को  बेचा जा रहा हैं। जहाँ सिर्फ नशेड़ी ग्राहकों को काउंटर के किनारे खड़े व्यक्ति से कहना पड़ता है की 60 रु. की बैगनी वाली दो या 120 की आसमानी वाली एस.पी. और फिर मेडिकल हाल के कर्मचारी द्वारा वही काउंटर के नीचे नशीली दवाइयों के पिटारे को खोल कर ग्राहक के डिमांड अनुसार रुपये प्राप्त कर थमा दिया जाता हैं। रीवा पुलिस आए दिन नशेड़ियों के खिलाफ कार्यवाही कर रहीं पर मुख्य नशीली दवा के विक्रेताओ के सामने से ऐसे नजरअंदाज कर निकलते है जैसे रिश्वत की पट्टी आंख में पहले से ही बांध दी गयी हो। अगर विद्या भूषण मेडिकल हाल और कुछ जानी मानी एजेंसियों की जांच कर कार्यवाही की जाए तो निश्चित रूप से जिले में 60% प्रतिशत नशीली दवाओं का सफाया होगा।



हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे

Powered by Blogger.