पत्नियों को पति के ज़ुल्म से बचाने के लिए MP में बनेगा नया कानून

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

मध्य प्रदेश में अब घरेलू हिंसा से बचाव और महिला सुरक्षा के लिए सरकार जल्द ही एक और कानून बनाने जा रही है. एमपी में पिछले 15 दिन में 3 महिलाओं के हाथ उनके पतियों ने काट दिये. इन घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए सीएम शिवराज ने ऐलान किया कि उनकी सरकार जल्द ही ऐसे पुरुषों को सबक सिखाने के लिए नया कानून लाएगी.

यात्रियों की अनावश्यक भीड़ को रोकने इस स्टेशन पर प्लेटफार्म टिकिट का शुल्क हुआ 50 रुपये

मध्यप्रदेश में महिला सुरक्षा के लिए शिवराज सरकार जल्द ही एक और कानून बनाने वाली है. यह कानून पत्नियों के हाथ काटने वाली घटना के खिलाफ बनाया जा रहा है ताकि पतियों का ज़ुल्म रोका जा सके और उन्हें सज़ा दिलायी जा सके. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा इस तरीके की घटनाएं अब दोबारा न हों इसके लिए जल्द कानून बनाने के निर्देश दिए गए हैं. यह कड़ा कानून होगा और इसमें कोई भी दोषी नहीं बख्शा जाएगा.

MP के इस समीपस्‍थ गांव में तीन दिन का जनता लॉकडाउन : सिर्फ आवश्यक सामग्री पर रहेगी छूट

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा 3 दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुईं, जिन्होंने मुझे झकझोर कर रख दिया. 15 दिन में 3 बहनों के हाथ काटे गए. यह हाथ किसी और ने नहीं बल्कि पति ने काटे. यह घरेलू हिंसा का बेहद जघन्य मामला है. मैंने मामलों को गंभीरता से लिया है. डीजीपी को निर्देश दिया कि इसे चिन्हित अपराध मान जाए. जिन आरोपियों ने हाथ काटे हैं उन्हें जल्द से जल्द सजा मिले. इन मामलों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई हो. यह विश्वास का खून है. दोषियों को इतनी कठोर सजा मिले ताकि कोई दोबारा ऐसा अपराध करने की हिम्मत न कर सके.

Powered by Blogger.