SATNA : आतंक का पर्याय बने इस अपराधी ने पुलिस पर चलाई कई बार गोली, बुलेटप्रूफ जैकेट पहन कर पुलिस ने पकड़ा

Telegram

 

                               

सतना. गोली चलाकर पुलिस पार्टी पर हमला, अड़ीबाजी, रंगदारी नहीं मिलने पर हाइवा को आग लगा देने समेत कई संगीन अपराध कर चुके इनामी अपराधी राजन सिंह पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। उसे पकडऩे के लिए पुलिस टीम को बुलेट प्रूफ जैकेट पहनकर जाना पड़ा। दूसरी ओर जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर अजय कटेसरिया ने आरोपी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाही कर उसका वारंट जारी कर दिया था। ALSO READ MORE : कोरोना काल में रंजना ने पोस्टर के जरिए लोगों को जागरुक करने का किया प्रयास, अब दुनिया की 19 प्रभावशाली महिलाओं में शामिल

पुलिस का कहना है कि आरोपी राजन सिंह करही की गिरफ्तारी के लिए १० हजार रुपए का इनाम घोषित था। नागौद थाना क्षेत्र में हाइवा को आग लगाने की घटना के बाद पुलिस उसकी तलाश तेजी से कर रही थी। कुद दिनों पहले ही आरोपी की संपत्ति कुर्क करने के संबंध में आरोपी के दक्षिणी पतेरी स्थित आवास पर नोटिस चस्पा करते हुए जमीन की नापजोख कराई गई थी। इसके पहले 19 जनवरी को थाना सिविल लाइन में अखिल प्रताप सिंह पुत्र भीम सिंह (48) निवासी पुष्पांजलि कॉलोनी मुख्त्यारगंज हाल विट्स कॉलेज अमौधा ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 18 जनवरी को रात करीब 12 बजे राजन सिंह निवासी करही स्कार्पियो गाड़ी से कॉलेज गेट के पास आया और सुरक्षाकर्मियो से शराब पीने के लिए 2000 रुपए की मांग किया। ALSO READ MORE : छुहिया घाटी में अब 12 मार्च तक सभी भारी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित

पैसा देने से मना करने पर जबरन गेट खोलते हुए राजन सिंह कार लेकर कैम्पस में दाखिल हुआ और कार तेजी से घुमाकर डाराया धमकाया। इस शिकायत पर आइपीसी की धारा 294, 327, 506, 34 के तहत अपराध कायम किया गया था। इसके बाद अखिल प्रताप सिंह ने ही 16 फरवरी को रिपोर्ट दर्ज कराई कि राजन सिंह एवं उसके दो अन्य साथी स्कार्पियो कार से गेट तोड़कर कॉलेज में दाचिाल हुए और वहा मौजूद सुरक्षाकर्मियों को गाली देकर धमकाया। इस शिकायत पर आइपीसी की धारा 452, 440, 386, 294, 506, 427, 34 का अपराध कायम किया गगया था। ALSO READ MORE : धारदार हथियार समेत बड़ी घटना को अंजाम देने की फ़िराक घूम रहे दो बदमाशों को पुलिस नें अवैध आर्म्स के साथ किया गिरफ्तार

कट्टा के साथ मिली पिस्टल

पुलिस का कहना है कि आरोपी राजन सिंह बघेल पुत्र स्व.उदयभान सिंह बघेल निवासी करही के बारे में सूचना मिली थी कि वह अपने गांव करही में घूम रहा है। एेसे में निरीक्षक एसएम उपाध्याय के नेतृत्व में बुलेट प्रूफ जैकेट पहनकर एएसआइ रवीन्द्र द्विवेदी, प्रधान आरक्षक शंकर दयाल मिश्रा, आरक्षक कमलाकर सिंह, अंकेश मरमट, शुभम सिंह, रामानुज शर्मा, विकास सिंह की टीम घेराबंदी करने पहुंची। आरोपी के पकड़े जाने पर उसके कब्जे से 315 बोर का देसी कट्टा, दो कारतूस व पिस्टल और उसके कारतूस जब्त किए गए हैं। ALSO READ MORE : मैं विधानसभा में निष्पक्ष रहूंगा, लेकिन रीवा का पक्ष कभी नहीं छोड़ूंगा : गिरीश गौतम

Powered by Blogger.