REWA : कलेक्टर ने जन सुनवाई में 218 आवेदन पत्रों में की सुनवाई

Telegram

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जन सुनवाई कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने आम जनता से प्राप्त आवेदन पत्रों में सुनवाई की। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को समय-सीमा में आवेदन पत्रों के निराकरण के निर्देश दिये। जन सुनवाई में 218 आवेदन पत्रों में सुनवाई की गई। अपर कलेक्टर श्रीमती इला तिवारी तथा संयुक्त कलेक्टर एके झा ने भी जन सुनवाई में आवेदन पत्रों का निराकरण किया। कलेक्टर ने मऊगंज निवासी सुनीता शर्मा को प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना की दूसरी किश्त का तत्काल भुगतान करने के निर्देश दिये। प्रथम किश्त मिलने के बाद तकनीकी भूल के कारण श्रीमती शर्मा के आवास के प्रकरण को सरेण्डर कर दिया गया था। कलेक्टर के निर्देश पर संयुक्त कलेक्टर एवं प्रभारी अधिकारी शहरी विकास अभिकरण अंजली द्विवेदी ने तकनीकी कमी को दूर कराकर आवेदिका को दूसरी किश्त की 50 हजार रूपये की राशि जारी करायी।

शांति एवं सौहार्द के साथ मनाये त्यौहार, होलिका दहन में गोबर की लकड़ी का करें प्रयोग : कलेक्टर

जन सुनवाई में कामता निवासी रामनई ने सार्वजनिक हैण्डपंप में एक व्यक्ति द्वारा अवैध कब्जा कर लेने की शिकायत की। कलेक्टर ने तहसीलदार रायपुर कर्चुलियान को तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिये। सेवानिवृत्त पटवारी रामाश्रय मिश्रा ने उनके स्वत्वों के भुगतान के लिये आवेदन दिया। कलेक्टर ने अधीक्षक भू अभिलेख को तत्काल प्रकरण तैयार कर कार्यवाही के निर्देश दिये। जगदीश प्रसाद निवासी डखरा ने आमरास्ते से अतिक्रमण हटाने के लिये आवेदन दिया। 

बड़ी सफलता : UP से रीवा लाई जा रही दो लाख की नशीली कफ सिरप पर पुलिस की दबिश : तस्करी करने वाले चार युवक गिरफ्तार

कलेक्टर ने तहसीलदार त्योंथर को इस संबंध में कार्यवाही के निर्देश दिये। संजय शास्त्री निवासी देवरा ने माध्यमिक शाला देवरा की भूमि पर अवैध कब्जा हटाने के लिये आवेदन दिया। कलेक्टर ने नायब तहसीलदार गोविंदगढ़ को तत्काल अवैध कब्जा हटाने के निर्देश दिये। रामरती तिवारी निवासी बरहुला ने उनके बैंक खाते से सचिव द्वारा अवैध रूप से पेंशन राशि निकालने की शिकायत की। कलेक्टर ने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को सचिव के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जन सुनवाई में आशा नामदेव निवासी मठवा ने पुत्री की कुएं में डूबने से हुई मौत पर आर्थिक सहायता देने के दिये आवेदन दिया। कलेक्टर ने मोबाइल फोन से एसडीएम सिरमौर को तत्काल राहत राशि मंजूर कर वितरित करने के निर्देश दिये।

Powered by Blogger.