MP : शहरों में बढ़ती जा रही एक्टिव केस की तादाद : CM शिवराज ने कहा 30 अप्रैल तक कोई भी बेवजह घर से न निकले

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 4 लाख के पार हो चुका है। अप्रैल के 17 दिनों में ही 1 लाख केस मिल चुके हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना का संकट अत्यंत विकट है। इसके इलाज में निजी अस्पतालों की भी अहम भूमिका है। यदि इस समय कोई प्राइवेट हॉस्पिटल चालू करना चाहता है, तो उसे सरकारी भवन व अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। उन्होंने कहा है कि 30 अप्रैल तक कोई भी अनावश्यक रूप से घर से न निकले। गांव, मोहल्लों, कॉलोनियों, बिल्डिंग्स आदि में लोग जनता कर्फ्यू लगाएं।

जब अपने भगाते है दूर तब ये असली यौद्धा आते है आगे : संक्रमण के डर से सगे तक लाश को छूते नहीं, पैकिंग में भगवान भरोसे पड़ा था भगवानदास का शव

भोपाल, इंदौर सहित जिन शहरों में एक्टिव केस की तादाद बढ़ती जा रही है, वहां एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। यदि कोरोना की रफ्तार को काबू नहीं किया गया तो सरकार आगे भी पाबंदियां बढ़ा सकती है। कल सोमवार से बढ़ाई गई लॉकडाउन की अवधि में पाबंदियां सख्त की जा रही हैं।

अवैध वसूली पर कलेक्टर ने कसी नकेल : अंतिम संस्कार के लिए शव ले जाने के लिए 400 रुपए फिक्स, कोविड शव को कवर और शिफ्ट करने के लिए 200 रु. अलग से देने होंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक युद्ध है। इसमें सबको सारे मतभेद भुलाकर एकजुट होकर लड़ना पड़ेगा। सरकार अपने स्तर पर पूरे प्रयास कर रही है, लेकिन जब तक समाज का पूरा सहयोग नहीं मिलेगा, हम कोरोना को शीघ्र नियंत्रित नहीं कर पाएंगे। बीमारी के थोड़े भी लक्षण दिखने पर तुरंत जांच करवायें तथा होम आइसोलेशन अथवा कोविड केयर सेंटर में रहकर इलाज लें। यहां सरकार द्वारा दवाओं, डाक्टर की परामर्श आदि की पूरी व्यवस्था की गई है।

होम आइसोलेशन में सभी सुविधाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन में सरकार की ओर से कोरोना के इलाज की सभी सुविधाएं दी जा रही हैं। आवश्यकता होने पर अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस का इंतजाम किया जा रहा है। जिन मरीजों के घर में जगह कम है, वे कोविड केयर सेंटर में रहें। वहां पर दवाई के अलावा भोजन, चाय-नाश्ता आदि की व्यवस्था भी की गई है। सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर चालू हो गए हैं।

बेड की संख्या निरंतर बढ़ाई जा रही है

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अस्पतालों में बेड की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। जहां 01 अप्रैल को कुल 21 हजार 159 बेड उपलब्ध थे, वहीं अब बढ़कर ये 40 हजार 784 हो गए हैं। पिछले तीन दिनों में लगभग 3 हजार बेड्स बढ़े हैं।

कोरोना वालंटियर्स बनें

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वालंटियर्स कोरोना के नियंत्रण में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। सेवा का इच्छुक कोई भी व्यक्ति 181 पर कॉल कर कोरोना वालंटियर बन सकता है। प्रदेश में अभी तक 97 हजार 500 कोरोना वालंटियर्स रजिस्टर्ड हुए हैं।

Powered by Blogger.