MP : विधायक से सोशल मीडिया पर अश्लीलता की, फिर बदनाम करने की धमकी देकर 5 लाख रुपए की मांग : आईटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

    

महाराजपुर विधायक को अज्ञात महिला द्वारा सोशल मीडिया चैटिंग के जरिए अश्लील हरकत करने और फिर उन्हें बदनाम करने की धमकी देने, 5 लाख रुपए की मांग करने का मामला सामने आया है। विधायक की शिकायत पर गढ़ीमलहरा थाना पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ आईटी एक्ट और आइपीसी की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यास तूफान को लेकर अलर्ट / रीवा, सतना, शहडोल सहित 13 जिलों में बारिश की चेतावनी : 185 KM की रफ़्तार से हवाएं चलने का अनुमान

विधायक नीरज दीक्षित ने पुलिस में शिकायत कर बताया कि किसी महिला ने पहले सोशल मीडिया पर मदद मांग कर दोस्ती की। इसके बाद 21 मई को उन्हें सीधा सोशल मीडिया कॉल करके अश्लील हरकतें शुरू कर दी गई। महिला ने कोई अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर दिखाया और चैट का स्क्रीन शॉट लिया। अगले दिन विधायक को एक अन्य नंबर से कॉल आया और किसी ने वीडियो चैट का स्क्रीन शॉट भेजकर विधायक को बदनाम करने की धमकी देते हुए 5 लाख रुपए की मांग की।

सर्वे में हुआ बड़ा खुलासा : अब नाले के पानी में कोरोना वायरस की पुष्टि , पानी में इस पर क्या प्रभाव होगा इसका अलग से अध्ययन किया जाएगा

विधायक नीरज दीक्षित इस हनी ट्रैप को भांपते ही सीधा गढ़ीमलहरा पुलिस के पास पहुंचे और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने दोनों नंबरों के साथ एक लिखित शिकायत की। गढ़ीमलहरा थाना प्रभारी रवि उपाध्याय ने बताया कि 22 मई को थाना अज्ञात आरोपी पर आइटी एक्ट की धारा 67, 67 ए और आइपीसी की धारा 385 के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी। यह जांच का विषय है कि विधायक को फंसाने की साजिस रचने वाली कोई महिला है या पुरुष।

विधायक बोले-मुझे लगा कि क्षेत्र के लोग अक्सर फोन पर मांगते हैं मदद

विधायक नीरज दीक्षित ने बताया कि मुझे लगा कि क्षेत्र के लोग अक्सर मदद के लिए फोन करते हैं, उसी तरह का कोई फोन होगा। लेकिन जब महिला अश्लील हरकत करने लगी तो मैंने तुरंत फोन काट दिया और पुलिस से शिकायत की है। उम्मीद है पुलिस जल्द ही आरोपियों को पकड़ेगी।

आरोपियों की तलाश जारी है

इस संबंध में साइबर फ्रॉड सहित रुपयों की मांग करने के लिए प्रताडि़त करने की धाराओं में मुकदमा कायम किया गया। शुरुआती जांच में सामने आया है कि यह अन्य प्रदेश से किसी शातिर गिरोह द्वारा ऑपरेट किए जाने वाले सायबर फ्रॉड का मामला है। पुलिस आरोपियों को तलाश रही है। - सचिन शर्मा, एसपी छतरपुर

Powered by Blogger.