SATNA : घबराएं नहीं अपनाए योगासन के ये तरीके : शंख की ध्वनि से मजबूत होते हैं लंग्स, एक सांस में गुब्बारा फुलाएं, तो नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

(ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट ) सतना। कोरोना आपदा में घर पर आइसोलेट मरीजों को यदि ऑक्सीजन की कमी से जूझना पड़ रहा हो, तो घबराएं नहीं। योगाचार्य मुकेश तिवारी ने ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने का तरीका बताया है। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा ऑक्सीजन शंख की ध्वनि करने से मिलती है। साथ ही, इसे करने से लंग्स भी मजबूत होते हैं। वहीं, अगर एक सांस में गुब्बारा फुलाया जाए, तो उससे भी अच्छी ऑक्सीजन मिलती है।

लॉकडाउन को लेकर कलेक्टर और एसपी सख्त : छतरपुर के बड़ा मलहरा से सीधी बारात लेकर जा रहे दुल्हे का काटा चालान

ये दोनों कार्य सरल हैं। इसे करने के लिए न योग शिक्षक की जरूरत है और न ट्रेनर की। रोजाना ये क्रियाएं करने से जहां आपका ऑक्सीजन लेवल बढ़ेगा। वहीं इम्युनिटी पावर भी बढ़ेगी। इसके अलावा प्राणायाम, कपालभाति, भस्त्रिका आदि कर सकते हैं।

                              योग के तरीके बताते हुए योगाचार्य मुकेश तिवारी।

घबराहट के लिए करें शशांक आसन

मुकेश तिवारी ने बताया, जिन घर के सदस्यों को घबराहट हो रही है। वे लोग शशांक आसन करें। मतलब, खरगोश की तरह आगे की ओर झुककर आसन करना है। वहीं, बाल आसन से भी ऑक्सीजन लेवल बढ़ता है। इसे करने के लिए धरती में छोटे छोटे बच्चों की तरह लेट जाना है। पहले बाईं ओर फिर दाईं ओर लेटकर बाल आसन करने से शरीर को कई फायदे मिलेंगे।

ये पांच काम जरूरी

1- शंख ध्वनि: शंख ध्वनि करते समय सांस लेते और छोड़ते हैं। ​ऐसा करने से तेजी से ऑक्सीजन लेवल बढ़ता है।

2- गुब्बारा फुलाना: गुब्बारा फुलाने से लंग्स मजबूत होते हैं। साथ ही, तेजी से फूंक मारना पड़ता है।

3- लंबी सांस भरना: ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए लंबी सांस भरना जरूरी है। पहले कुछ देर के लिए सांस को रोकना है फिर छोड़ना है।

4- प्राणायाम: सब लोगों को सुबह-शाम व्यायाम करने के बाद योग का प्राणायाम जरूर करना चाहिए।

5- नृत्य कर​ना: मन पसंदीदा गाने के साथ नृत्य करने से आपके सांस की ​​गति बढ़ जाएगी। माइंड भी फ्रेश रहेगा।

Powered by Blogger.