MP : सिविल और संवैधानिक मामलों के जानकार हाईकोर्ट के CJ रहे एसके सेठ का काेराेना से निधन

 

इंदौर। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रह चुके जस्टिस संजय कुमार सेठ का शुक्रवार को कोरोना संक्रमण की वजह से निधन हो गया। वे एबी रोड स्थित एक अस्पताल में इलाज करवा रहे थे। 1990 के बाद जस्टिस सेठ ऐसे पहले जज रहे, जो मध्यप्रदेश के मूल निवासी होते हुए यहां के चीफ जस्टिस बने थे। सुप्रीम कोर्ट ने 1990 केे बाद यह व्यवस्था बंद कर दी थी कि कोई जज जिस राज्य का रहने वाला है, उसे वहां का चीफ जस्टिस बनाया जाए। जस्टिस सेठ 14 नवंबर 2018 में कार्यवाहक से स्थायी चीफ जस्टिस बने थे।

दस मई सुबह 6 बजे तक टोटल LOCKDOWN : होटल-रेस्टोरेंट से होम डिलीवरी पर रोक, रहेंगी सख्त पाबंदियां

वे मूलत: जबलपुर के रहने वाले थे। उन्होंने 24 जुलाई 1981 को वकालत शुरू की थी। सिविल और संवैधानिक मामलों के जानकार जस्टिस सेठ जबलपुर खंडपीठ में अतिरिक्त महाधिवक्ता भी रहे। इसके बाद 21 मार्च 2003 को उन्हें जज बनाया गया। वे लगभग 13 साल इंदौर खंडपीठ में रहे। चीफ जस्टिस बनने से पहले वे इंदौर बेंच के प्रशासनिक जज भी रहे। रिटायर होने के बाद वे इंदौर में ही बस गए थे।

Powered by Blogger.