MP : पहले फांसी लगाई तो टूट गया फंदा , फिर अस्पताल से पानी पीने के बहाने सड़क पर आया और ट्राॅले के सामने कूद गया, मौके पर मौत

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

दमोह के जबेरा क्षेत्र में एक युवक ने ट्रॉले के सामने आकर खुदकुशी कर ली। इससे पहले उसने आत्महत्या करने के इरादे से फांसी लगाई थी, लेकिन फंदा टूट जाने से जान बच गई। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां वह अस्पताल से पानी पीने का बहाना कर सड़क पर आया और ट्रॉले के सामने कूद गया। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। हालांकि प्राथमिक जांच में पुलिस इसे दुर्घटना मान रही है।

कल से 100% अधिकारियों और 50% कर्मचारियों को ऑफिस आने के निर्देश जारी

बीड़ी कॉलोनी तेजगढ़ निवासी घनश्याम (25) पिता बख्तू रैकवारने रविवार सुबह बिजोरा में एक खेत में लगे पेड़ की डाल कर लटक कर फांसी लगाने की कोशिश की थी। इसी बीच फंदा टूट गया। लोगों की मदद से उसे अस्पताल पहुंचाया गया। यहां हालत में सुधार होने पर पानी पीने के बहाने घनश्याम बाहर आ गया। इसके बाद जबलपुर की ओर से आ रहे ट्रॉला नंबर (पीबी 03 एजे 3356) के पिछले के पहियों के नीचे आ गया।

देवर के प्यार में पागल महिला ने 5 साल पहले पति की हत्या करके दफनाया, फिर अब बेटे के साथ मिलकर देवर को भी मारकर शव नदी किनारे फेंका

पेट के ऊपर से पहिया निकलने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि युवक ने जानबूझकर ट्रॉले के नीचे आकर जान दी है, जबकि पुलिस इसे दुर्घटना मान रही है।

1 जून से अनलॉक में इन्हें मिलेगी छूट, हर शनिवार रात से सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा कर्फ्यू : 5% से कम और अधिक संक्रमण वाले जिलों के नियम अलग

जबेरा थाना प्रभारी इंदिरा ठाकुर ने बताया कि मामला प्रथम दृष्टया एक्सीडेंट का लग रहा है। मृतक के परिवार वालों से जानकारी लेने के बाद कुछ कहा जा सकेगा। जैसा सुनने में आया था कि तेजगढ़ थाने में इसके खिलाफ कोई रिपोर्ट दर्ज हुई थी। जिसकी जानकारी लेने पर ऐसी जानकारी वहां से प्राप्त नहीं हुई है। मामले में जांच की जा रही है।

Powered by Blogger.