अभिभावकों को बड़ी राहत : इस साल भी नहीं बढ़ेगी प्राइवेट स्‍कूलों की फीस : पढ़िए पूरी खबर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

( SCHOOL FEES ) यूपी में कोरोना के कारण प्राइवेट स्कूलों में वर्तमान शैक्षिक सत्र 2021-22 में भी फीस बढ़ोतरी नहीं होगी। निजी स्कूल वर्ष 2019-20 में निर्धारित की गई फीस ही ले सकेंगे। अगर उन्होंने विद्यार्थियों से शुल्क बढ़ाकर वसूल लिया है तो उसे आगे के शुल्क में समायोजित करेंगे। 

हाई कोर्ट ने दिए 5 बड़े शहरों में पूर्ण लॉकडाउन के निर्देश : सरकार ने इंकार करते कहा -जीवन के साथ जीविका भी बचानी है

उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने निर्देश दिए हैं कि कोई भी स्कूल अभिभावक को एक साथ तीन महीने का शुल्क जमा करने के लिए बाध्य नहीं करेगा। उन्हें मासिक शुल्क जमा करने का विकल्प दिया जाएगा। अपर मुख्य सचिव (माध्यमिक शिक्षा) आराधना शुक्ला की ओर से गुरुवार को इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया गया। सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे स्कूलों द्वारा ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत पर कड़ी कार्रवाई करें। 

UP में न एंबुलेंस, न बेड, न जांच- हालात नहीं सुधरे तो लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है; कांग्रेस ने कहा- CM से राजधानी नहीं संभल रही

फिलहाल स्कूल बंद हैं और आनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। ऐसे में अभिभावकों से परिवहन शुल्क भी नहीं लिया जाएगा। कोरोना महामारी के कारण बीते साल 2020-21 में भी निजी स्कूलों में फीस बढ़ाने पर रोक लगा दी गई थी। फीस न बढ़ाए जाने का यह आदेश प्रदेश में सभी बोर्डों के सभी स्कूलों पर लागू होगा। स्कूलों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि जब तक विद्यालय परिसर में भौतिक रूप से उपस्थित होकर विद्यार्थी परीक्षा न दे तब तक उससे परीक्षा शुल्क न वसूला जाए। Online Exam के नाम पर शुल्क वसूलने पर कार्रवाई की जाएगी।

बेटी से छेड़छाड़ की शिकायत करने पर आरोपी ने पिता को उतारा मौत के घाट , सरकार से इंसाफ की गुहार लगाती बेटी

 वहीं विद्यालय बंद रहने की अवधि में अभिभावकों से क्रीड़ा, प्रयोगशाला, लाइब्रेरी और वार्षिक समारोह का शुल्क भी नहीं ले सकेंगे। निजी स्कूल विद्यार्थियों से तो शुल्क वसूल रहे हैं लेकिन शिक्षकों व कर्मचारियों को वेतन देने में आनाकानी कर रहे हैं। स्कूलों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वह शिक्षक व कर्मचारियों को नियमित वेतन दें।

Powered by Blogger.