REWA : प्राण बचै के कौउनौ उम्मीद नहीं रही पै डॉक्टर बचाय लिहिन .....

रीवा। संजय गांधी स्मृति हास्पिटल विन्ध्य क्षेत्र में कोरोना के उपचार के बड़े केन्द्र के रूप में उभरकर आया है। इससे प्रतिदिन 40 से 50 गंभीर कोरोना संक्रमित व्यक्ति उपचार के बाद पूरी तरह से स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे हैं। हास्पिटल से 12 मई को रीवा शहर के पड़रा मोहल्ले के निवासी 72 वर्षीय कोरोना पीड़ित स्वस्थ होकर अपने घर गये। कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने पुष्प गुच्छ देकर उनका हौसला बढ़ाया।

जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए आगे आए युवा एकता परिषद : गांव से शहर तक का भ्रमण कर गरीब बेसहारा को दे रहे हर संभव मदद की कोशिश

अपना अनुभव बताता हुए कोरोना पीड़ित ने कहा कि हम पांच मई का संजय गांधी अस्पताल मा भर्ती भैन तै। हमही प्राण बचै के कौउनौ उम्मीद नहीं रही। लेकिन भर्ती होतय डॉक्टर जउं दवाई दिहिन ओसे धीरे-धीरे आराम मिलै लाग। ऑक्सीजन के तुरतै व्यवस्था होइ गय। इहां हमही बहुत निकही सुविधा मिली। इहां के डॉक्टर अउर नर्स बहुत बढ़िया सेवा किहिन। जेके कारण अब हम बेलकुल ठीक होइ गैन हय। स्वस्थ रोगी के पुत्रों ने बताया कि अब पिता का ऑक्सीजन सेचुरेशन का स्तर सामान्य है। हास्पिटल में समय पर दवाओं, भोजन तथा चाय आदि की सुविधा मिलती रही। बड़े डॉक्टरों ने भी वार्डों में आकर रोगियों का उपचार किया।

Powered by Blogger.