SATNA : पुलिस की एक बड़ी लापरवाही : प्रभारी आरक्षक जन्मदिन पार्टी में मशगूल, उधर 20 हजार का इनामी डकैत कस्टडी से फरार

 

सतना जिले के बरौंधा थाना पुलिस की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां बरौंधा थाना प्रभारी आरक्षक की जन्मदिन पार्टी में मशगूल रहे। उधर 20 हजार के इनामी डकैत का साथी पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। हालांकि जैसे ही पुलिस को मामले की भनक लगी तो आनन-फानन में फरार डकैत के खिलाफ एक और मामला दर्ज कर पुलिस की कई टीमें जंगल में सर्चिंग कर रही है।

सतना SP धर्मवीर​ सिंह यादव की बनी फर्जी फेसबुक आईडी : साइबर अपराधियों ने परिचितों से मांगे पैसे

मिली जानकारी के मुताबिक एमपी-यूपी सीमा में आतंक का पर्याय बन चुके 20 हजार के इनामी डकैत अर्जुन सिंह परिहार को पकड़ने के लिए सतना पुलिस सालों से सक्रिय थी। बीते दिनों मुखबिर की सूचना पर बरौंधा पुलिस ने बांदा जिले के बदौसा थाना अंतर्गत टेरा महुटा निवासी अजय पाल समेत दो लोगों को एमपी-यूपी की सीमा पर पकड़ा था। जिन्हें थाने लाकर सरगना के संबंध में पूछताछ की जा रही थी।

सतना बिरला सीमेंट में बड़ा हादसा : सफाई करते श्रमिक का सिर बेल्ट में फंसकर सेकंडों में कट कर धड़ से हुआ अलग : आक्रोशित श्रमिकों ने किया जमकर बवाल

इसी बीच मंगलवार की रात जब पुलिस स्टाफ अन्य कामों में व्यस्त था, तब अजय पाल थाने से फरार हो गया। वहीं सूत्रों का दावा है कि जब डकैत फरार हुआ था, तब थाना प्रभारी राजेश पटेल एक टीम के साथ आरक्षक का जन्मदिन मना रहे थे। इधर थाने के अंदर पुलिस कस्टडी से डकैत फरार होने की सूचना के बाद बरौंधा पुलिस के जिम्मेदारों के हाथ पैर फूल गए। आनन-फानन में रात में ही कुछ टीमें जंगल में सर्चिंग के लिए उतारी गई थी।

मैहर-उमरिया स्टेट हाइवे पर भीषण सड़क हादसा / 60 की स्पीड में अल्टो कार का निकला पहिया, नाना की मौत, बेटी और दो पोतियां गंभीर

तेंदूपत्ता ​श्रमिकों के साथ डकैत कर चुके हैं मारपीट

पुलिस सूत्रों का मानना है कि इनामी डकैत अर्जुन सिंह अपने चार साथियों को लेकर सोमवार की सुबह जवारिन गांव से लगे जंगल में पहुच गया। वहां पर तेंदूपत्ता तोड़ रहे आधा दर्जन ​श्रमिकों के साथ बंदूक की बट और लाठी डंडों से मारपीट की। हालांकि डकैतों के डर से तेंदूपत्ता ​श्रमिक मारपीट की शिकायत पुलिस से नहीं की है।

Powered by Blogger.