REWA : रीवा हॉस्पिटल में 10 घंटे के ऑपरेशन बाद फटी हुई नस और हड्डी जोड़कर डॉक्टरों ने मरीज की बचाई जान

रीवा। 30 वर्षीय मरीज जो की नईगढ़ी निवासी एचडीएफसी बैंक इंदौर में नौकरी करते हैं। कल शाम को वह अपने निजी काम के लिए मिर्जापुर जा रहे थे जिनका हनुमना के पास एक्सीडेंट हो गया और कंधे की खून की नस फट गई इसके साथ कंधे और हाथ की नस का संचार कम हो गया। मरीज का अत्यधिक रक्त घटना स्थल में ही बह गया था साथ में कंधे और हाथ की हड्डी भी कई टुकड़ों में फट गई थी। 

सतना की बेटी निकिता सिंह ने भारतीय सेना की न्यायिक सेवा परीक्षा में देश में प्रथम स्थान हासिल किया

आनन-फानन में इनके परिजन रीवा हॉस्पिटल लेकर आए वहां डॉक्टर शुभम मिश्रा हड्डी रोग विशेषज्ञ और प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर सौरभ सक्सेना एनेस्थीसिया से डॉ अभय राज की टीम ने अर्जेंसी ऑपरेशन करने का फैसला लिया। इस सर्जरी में 6 बैग खून और 10 घंटे समय लगा। 

युवती को आधे कपड़ों में थाने लाने का मामला : नगर सैनिक समेत चार के खिलाफ दर्ज हुआ मामला, थाना प्रभारी को हटाया

जिसमें एक ही बार में खून की नस पैरों से निकालकर जिसको वैस्कुलर ग्राफ्ट बोलते हैं 5 सेंटीमीटर की नस पेट से निकालकर ऊपर कंधे में फटी हुई नस में जोड़ा गया। इसके साथ जो कंधे की करंट वाली नस जिसको ब्रेकियल प्लेक्सस बोलते हैं उसको भी सिला गया। साथ में डॉक्टर शुभम मिश्रा ने कंधे और कलाई का ऑपरेशन किया। इस दौरान टीम वर्क करके मरीज की जान बचाई गई और मरीज स्वस्थ है ‌।

Powered by Blogger.