MP : सोने की चेन छीनने आए दो बाइक सवार बदमाश जैसे ही महिला के गले पर झपट्‌टा मारे तुरंत महिला के युवक का हाथ पकड़ा और फिर हुआ ये..

महिला साइंटिस्ट की सतर्कता और साहस के आगे लुटेरे नहीं टिक सके। सोने की चेन छीनने आए दो बाइक सवार बदमाशों से महिला अधिकारी भिड़ गईं। गले पर झपट्‌टा मारते ही सतर्कता दिखाते हुए एक बदमाश का हाथ भी पकड़ लिया। पकड़े जाने के डर से बदमाश बाइक से भाग गए।

सोशल मीडिया पर सावधान / INSTAGRAM पर लड़की को भेजा HI रिप्लाई नहीं मिला तो धमकी में लिखा- तेरी न्यूड पिक डाल दूं, तब मानेगी

वारदात गुरुवार रात 8 बजे गोविंदपुरी रोड इलाके में कुलपति बंगले के पास की है। महिला डॉक्टर ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने नाकाबंदी भी की, लेकिन बदमाश हाथ नहीं आए। शुक्रवार को पुलिस ने घटनास्थल के आसपास CCTV की फुटेज भी खंगाली है।

मैं हूँ डॉन : लॉकडाउन में दो की गोली मारकर कर दी हत्या, 20 मामले दर्ज, पुलिस से कहता था- डॉन हूं, मुझे पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है

श्याम विला बलवंत नगर निवासी मणिका वाष्णेय रीजनल फोरेंसिक साइंस लैब (RFSL) में बतौर वैज्ञानिक अधिकारी पदस्थ हैं। रोजाना की तरह गुरुवार देर शाम वह ऑफिस से घर पहुंचीं। चाय पीने के बाद इवनिंग वॉक पर निकल गईं। लौटते समय कुछ फल खरीदे और वापस पैदल-पैदल घर के लिए लौटने लगीं। रात करीब 8 बजे वह कुलपति बंगले के पास पहुंची, तभी पीछे से काले रंग की बाइक सवार दो बदमाशों ने उनके गले पर झपट्‌टा मारा।

युवक से बेतहाशा प्यार, घर तक छोड़ा, उसी ने जिंदगी भर साथ निभाने की कसमें खाकर बनाए शारीरिक संबंध; बाद में निकला एक बच्चे का पिता

लुटेरे का नाखून जैसे ही माणिका के गले पर लगा, तो उन्हें वारदात का अहसास हो गया। तेजी से हरकत करते हुए उन्होंने चेन पकड़ ली। फुर्ती से दूसरे हाथ से फल का बैग छोड़कर एक लुटेरे का हाथ पकड़ लिया। जिससे बदमाश लड़खड़ा गए। बदमाश ने झटका देकर हाथ तो छुड़ा लिया, लेकिन वह गिरते-गिरते बचे।

दिल दहला देने वाली घटना : शव को रौंदते रहे वाहन, सुबह सड़क पर चिपके मिले चीथड़े; खरोंचकर निकाले, अंगुलियां तो 1 Km दूर मिलीं

इसके बाद वह बाइक की स्पीड बढ़ाकर भाग गए। महिला अफसर ने भागकर पीछा करना चाहा, लेकिन कुछ ही देर में बदमाश ओझल हो गए। मणिका ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचर पड़ताल की। शहर में नाकाबंदी भी कर दी, पर बदमाशों को पकड़ने में सफलता नहीं मिली।

हेड लाइट्स बंद कर आए थे बदमाश

डॉ. मणिका ने बताया कि बाइक सवार दो बदमाश थे। उनकी गाड़ी काले रंग की थी। दोनों की उम्र करीब 25 से 30 वर्ष होगी। वह बाइक की हेड लाइट्स बंद कर पीछे तक आ गए थे। लाइट्स इसलिए बंद की थी कि मुझे उनके आने का पता न लगे। गाड़ी की आवाज भी नहीं आई। जब उन्होंने झपट्‌टा मारा, तो गले पर अहसास हुआ।

उनके पास हथियार भी हो सकते थे, पर मैं डरी नहीं

मणिका ने बताया, बदमाश जब हाथ पकड़ने पर लड़खड़ाए, तो मुझे लगा मैं उनको पकड़ लूंगी, लेकिन इसी बीच लुटेरे का हाथ छूट गया। वह बाइक की स्पीड बढ़ाकर भाग गए। उनके पास हथियार भी हो सकते थे, लेकिन मैं डरी नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि रात को उस रास्ते पर अंधेरा था, जो महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है। वहां स्ट्रीट लाइट होनी चाहिए।

केबीसी में भी जा चुकी हैं मणिका

पुलिस की रीजनल फोरेंसिक साइंस लैब में पदस्थ मणिका इससे पहले कौन बनेगा करोड़पति में भाग लेने के कारण भी चर्चित रह चुकी हैं। दो साल पहले वह केबीसी के लिए सिलेक्ट हुई थीं। हॉट सीट तक पहुंचकर एंकर व अभिनेता अमिताभ बच्चन के सामने कई सवालों के सही जवाब देकर रुपए भी जीते थे।

Powered by Blogger.