REWA : अपहरण के बाद दुष्कर्म से गर्भवती हुई 2 बालिकाओं का गर्भपात कराने किशोर न्याय बोर्ड ने दी स्वीकृति

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। अपहरण के बाद दुष्कर्म और इसी बीच गर्भवती हुई 2 बालिकाओं का गर्भपात कराने के मामलों को किशोर न्याय बोर्ड ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। अबार्सन कराने के लिए दोनों बालिकाओं को रीवा मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है।

पुलिस का शर्मनाक चेहरा उजागर : युवती से आधे कपड़े में ही पुलिस के जवानों ने गंदी बात कर ले गए थाने, बस संचालक ने वीडियो बनाकर किया वायरल

अपहरण और दुष्कर्म के अलग-अलग मामलों में पुलिस द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी और बालिकाओं की बरामदगी के बाद परिजनों की मांग, मेडिकल फिटनेस रिपोर्ट्स और चाइल्ड वेलफेयर कमेटी की काउंसलिंग के बाद किशोर न्याय बोर्ड ने यह व्यवस्था दी है। उल्लेखनीय है, दोनों मामलों में पुलिस द्वारा कराए गए मेडिकल टेस्ट बालिकाएं 3 से 4 माह के गर्भ से थीं।मैहर टीआई विद्याधर पाण्डे ने बताया कि मैहर थाना क्षेत्र के मुहल्ले से 6 माह पहले गायब हुई एक बालिका को लगभग 12 दिन पहले नागपुर पुलिस ने खोज निकाला था।

रीवा पुलिस ने विभाग सहित पूरे समाज को किया कलंकित : बिना कपड़ों के लड़की को ले गए थाने, फिर ...

इस सिलसिले में 17 साल के एक नाबालिग लड़के को भी हिरासत में लिया गया था। वहीं जसो के थाना प्रभारी पवनराज ने बताया कि लगभग 7 माह पहले लापता हुई एक नाबालिग बालिका की दस्तयाबी 29 मई को नरसिंहपुर से की गई थी। मामले में 20 वर्षीय आरोपी पुष्पेन्द्र कुशवाहा को भी गिरफ्तार कर लिया गया था। आरोपी फिलहाल सेंट्रल जेल में है।

सोहागी पहाड़ में युवक की पत्थर पटक कर आरोपियों ने कर दी निर्मम हत्या , खून से लथपथ हालत में मिला शव : पूरे इलाके में फैली सनसनी

जांच में बालिका तीन माह के गर्भ से मिली थी। बालिका को चाइल्ड वेलफेयर कमेटी को सौंप दिया गया था। सीएमएचओ की मेडिकल रिपोर्ट, परिजनों की सहमति और सीडब्ल्यूसी की काउंसलिंग के बाद यह प्रकरण भी गर्भपात की अनुमति के लिए किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया गया था। आरोपी के खिलाफ जसो थाने में आईपीसी की धारा- 363, 376 और पाक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज है।

Powered by Blogger.